Monday, December 9, 2013

मैं तुच्छ हूँ , मामूली हूँ , मेरी कोई औकात नहीं है , मैं आम आदमी हूँ , मैं नहीं जीता , आम आदमी जीता है ! ना सपोर्ट मागूंगा ना दूंगा ! ना जियूँगा न जीने दूंगा! तीन तिकाड़ा काम बिगाड़ा। पका दिया है अरविन्द केजरीवाल ने. ऐसा लगता है जैसे आम आदमी पहले नहीं था , बस इनके आते ही पैदा हो गया ? इन्होने अच्छे और सच्चे लोगों को दरकिनार कर दिया !बाबा रामदेव, अन्ना , किरण बेदी , सबको दूध से मक्खी कि तरह निकाल दिया। सबको भ्रष्ट का तमगा दे दिया। गुड्डा गुड़िया शामिल करके पार्टी बना लिए ! इन्हें वोट देने वाले भी मोबाईल से खेलने वाले ,१८ -१९ कि जमात वाले बच्चा पार्टी ही है !

16 comments:

रविकर said...

पूर तमन्ना हो गई, जीते आप चुनाव |
पर अट्ठाइस सीट से, होता नहीं अघाव |

होता नहीं अघाव, दाँव लम्बा मारेगा |
होगा पुन: चुनाव, आप सब को तारेगा |

आये सत्तर सीट, जुड़ेगा स्वर्णिम पन्ना |
सारी दुनिया साफ़, तभी हो पूर तमन्ना ||

ZEAL said...

कांग्रेस ने बजेपी के वोट तोड़ने के लिए केजरीवाल को सुपारी दी , लेकिन अफ़सोस केजरीवाल ने इन्ही के पैर पर कुल्हाड़ी चला दी! दिल्ली कि समझदार जनता अभी भी भाजपा के साथ है, ये चुनाव परिणाम ने साबित कर दिया है !

Virendra Kumar Sharma said...

पूर तमन्ना हो गई, जीते आप चुनाव |
पर अट्ठाइस सीट से, होता नहीं अघाव |

होता नहीं अघाव, दाँव लम्बा मारेगा |
होगा पुन: चुनाव, आप सब को तारेगा |

आये सत्तर सीट, जुड़ेगा स्वर्णिम पन्ना |
सारी दुनिया साफ़, तभी हो पूर तमन्ना ||

Rajesh Kumari said...

आपकी इस उत्कृष्ट प्रविष्टि कि चर्चा कल मंगलवार १०/१२/१३ को चर्चा मंच पर राजेश कुमारी द्वारा की जायेगी आपका वहाँ स्वागत है ---यहाँ भी आइये --बेजुबाँ होते अगर तुम बुत बना देते
Rajesh Kumari at HINDI KAVITAYEN ,AAPKE VICHAAR

सूबेदार जी पटना said...

बहुत जल्द ही केजरीवाल कि पोल खुल जायेगी ngo भ्रष्ट्राचार कर सकते हैं देश नहीं चला सकते-----.

ZEAL said...

केजरीवाल कि चिल्लर पार्टी में धर्मेन्द्र कोली जैसे मनचलों ने तो अपने लक्षण दिखाने शुरू कर दिए हैं ! डमरू बजाकर भीड़ तो जुटा ली पर मदारी के नियंत्रण से बाहर हो रहे हैं उसके बन्दर ! इन लोगों में ना ही grace है न ही maturity

ZEAL said...

केजरीवाल में दम होता तो सरकार बनाने से बचते नहीं। विदेशों से NGO कि मार्फ़त पैसा लेकर भारत देश कि एकता में सेंध लगाने आया है ! ये आखिर विपक्ष में क्यों बैठना चाहता है? दिल्ली तो तीन टुकड़ों में बांटने का जिम्मेदार है ये ! अब इसकी निगाह पूरे देश पर है ! कांग्रेस के बाद अब ये झाड़ू वाले जमादार आ गए हैं देश को पिस्सुओं कि तरह चाटने ! दम है तो सरकार बनाये ! जनादेश का सम्मान करे , बिजली बिल में कटौती करे , महंगाई घटाए , नौटंकी बंद करे और ज्यादा हरीशचंद्र बनने कि कोशिश न करे ! केजरीवाल तो अमेरिका जैसी विदेशी ताकतों से मिलकर देश को कमज़ोर कर रहा है ! इस चिल्लर पार्टी का एजेंडा मोदी जी को रोकना मात्र है ! ये अपने नापाक मंसूबों में कभी कामयाब नहीं होगा !

रविकर said...

लेना देना जब नहीं, करे तंत्र को बांस |
लोकसभा में आप की, मानो सीट पचास |

मानो सीट पचास, इलेक्शन होय दुबारे |
करके अरबों नाश, आम पब्लिक को मारे |

अड़ियल टट्टू आप, अकेले नैया खेना |
सबको माने चोर, समर्थन ले ना दे ना ||

Maheshwari kaneri said...

नया नया मुल्ला है .. आगे आगे देखो..क्या होता है..?

ZEAL said...

केजरीवाल और उनकी खल मण्डली अभी दिवा स्वप्न देखने में व्यस्त है! केजरीवाल कि गिद्ध दृष्टि PM कि कुर्सी पर है! लोक सभा चुनाव और दिल्ली कि जिम्मेदारी दोनों एक साथ इनसे संभल नहीं रही इसलिए सरकार बनाने से भाग रहे हैं.।और समर्थन किसी को देंगे नहीं क्योंकि इनके अलावा बाकी सब तो भ्रष्ट हैं ! दूध के धुले बस यही एक तो हैं।

Ranjana Verma said...

बिल्कुल सही केजरीवाल सरकार चलने से पीछे हट रहे हैं... सिर्फ इनको चुनाव ही विकल्प दिखता है..

Jayant Chaudhary said...

Bahut sundar... Kyaa baat hai.

ZEAL said...

केजरीवाल चाहते हैं पूरी दिल्ली रिस्क ले लेती ! ऐसा नहीं होगा मिस्टर ईमानदार। पहले एक तिहाई दिल्ली तुम्हें परखेगी फिर आएगे बढ़ने का मौक़ा मिलेगा! सत्ता बनाने के पहले ही डर के काँप रहे हैं थर थर! अरे भईया बनाओ सरकार और दिखाओ कमाल ! दम होगा तो थम जाओगे नहीं तो निपट जाओगे लोक सभा चुनावों के पहले ही! और हाँ दुबारा चुनावों के बारे में तो सोचना ही नहीं अन्यथा झाड़ू चल जायेगी पूरी चिल्लर पार्टी पर ! कोली जैसे आठवीं पास विधायकों ने तो अपना धमाल दिखाना शुरू कर ही दिया है ! मनचले बच्चों से और ज्यादा कि उम्मीद भी क्या की जाए?

ZEAL said...

ये सरकार क्या बनाएगा , लोगों को फोड़कर अपनी पार्टी में शामिल करना चाहता है ! अशोक खेमका को बरगला रहा था , खेमका ने साफ़ इंकार कर दिया , इसे समझ आ गयी अपनी औकात ! पढ़े लिखे समझदार लोग इसके साथ कभी नहीं आयेगे ! इसकी पार्टी में कोली जैसे चिल्लर ही जमा होंगे , खेमका जैसे स्थिर बुद्धि वाले कभी नहीं आएंगे!

Anonymous said...

[url=http://www.zielonapolana.zgora.pl]nowy dom w konstancinie[/url]
[url=http://www.mmnotebooks.ilawa.pl]laptopy dell[/url]
[url=http://www.remokotly.pila.pl]podawanie paliwa[/url]

Anonymous said...

There are many online survey sites that permits that you do surveys and purchase from
you for it miley cyrus tour 2014 there are plenty of
instances wherein we may suddenly need cash and these situations
cold arise without any kind of warning.