Thursday, January 7, 2016

अंडे की कहानी के माध्यम से मोदी जी को एक सलाह

पहले कहानी पढ़िए , सलाह खुद ही समझ आ जायेगी आपको ! न समझ आये तो नीचे लिखा भी है ! 
-------------------------------------
एक अंडा था , सातवें माले पर चढ़ गया और नीचे कूद गया ! फूटा नहीं !---"जाको राखे साईयां मार सके न कोय"
.
वो अंडा दुबारा सातवें माले पर गया और छलांग लगा दी ! फूटा नहीं ! ...."Practice makes a man perfect" 
.
अंडे को बहुत मज़ा आ रहा था, वो फिर से सातवें माले पर चढ़ गया और नीचे कूद गया ! फुट गया !----" Over confidence "
-------------------------------------
तो समझाईश ये है की विवेक से काम लेना चाहिए ! न भाजपा अपनी उदारवादी नीति बदलेगा, न ही पाकिस्तान अपनी ! अतः दो तीन बार यदि किस्मत से सकुशल भारत लौट आये हैं तो सचेत हो जाना चाहिए ! पाकिस्तान पर , उसकी नीतियों पर , उनकी जेहादी प्रवृत्तियों पर ऐतबार नहीं किया जा सकता ! आप खुद को बार-बार संकट में मत डालिये ! मत जाइए पाकिस्तान ! आपको खतरा हो सकता है वहां !
.
वन्देमातरम !

5 comments:

Anonymous said...

It's greater to graze and eat anything tiny every handful of hours than it is to wait for the subsequent
meal.

Here is my web site natural weight loss Herbs

रूपचन्द्र शास्त्री मयंक said...

आपकी इस प्रविष्टि् की चर्चा कल शनिवार (09-01-2016) को "जब तलक है दम, कलम चलती रहेगी" (चर्चा अंक-2216) पर भी होगी।
--
सूचना देने का उद्देश्य है कि यदि किसी रचनाकार की प्रविष्टि का लिंक किसी स्थान पर लगाया जाये तो उसकी सूचना देना व्यवस्थापक का नैतिक कर्तव्य होता है।
--
हार्दिक शुभकामनाओं के साथ
सादर...!
डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक'

Anonymous said...

You should take part in a contest for one of the best sites on the internet.
I most certainly will recommend this site!

Feel free to visit my site; oil filter comparison

Anonymous said...

http://achatciajisgeneriquepascher.com/ acheter cialis
http://cia1is-achat.net/ prix cialis
http://achetercia1isgeneriquesansordonnance.net/ prix cialis
http://acquistare-cia1is-generico.net/ cialis
http://prezzocia1isgenericoonline.com/ acquistare cialis

जमशेद आज़मी said...

हा..हा.., बहुत ही बढि़या अंदाज में मोदी जी को समझााने का प्रयास किया है। आपकी पोस्‍ट इस पोस्‍ट को मैंनें पूरी गंभीरता के साथ पढ़ा। मैंनें भी अंडे पर एक कहानी लिखी थी। जोकि चंपक में कई साल पहले प्रकाशित हो चुकी है। मेरे ब्‍लाग पर आपका स्‍वागत हैं। आपका इंतजार रहेगा।