Wednesday, September 25, 2013

सोशल मीडिया ने नींद उड़ा दी है नेताओं की

सोशल मीडिया ने नींद उड़ा दी है नेताओं की। ये चाहते हैं की ये कुछ भी करें लेकिन पर्दाफ़ाश न हो। लेकिब ये संभव नहीं। जनता का खून पियोगे तो पल भर में रिपोर्ट सबके सामने ला दी जायेगी। अब आप अपने घर के अँधेरे कमरे में भी कुछ करोगे तो सच सोशल मीडिया सामने लाकर रख देगा ! नेताओं का भय ही हमारी सफलता है ! अपना नैतिक , चारित्रिक और राजनैतिक पतन रोको अन्यथा सब उजागर कर दिया जाएगा ! नेताओं के मन में भय पैदा होना एक शुभ संकेत है। सोशल मीडिया सही दिशा में है। जय हिन्द ! वन्दे मातरम् !

20 comments:

Dr.Ashutosh Mishra "Ashu" said...

आदरणीय भगवान् करे इनकी नींद ऐसी उड़े की ये सोने को तरस जाएँ ..वाकई शुब संकेत है है ..आपके सतत प्रयास को पुनः नमन के साथ

पूरण खण्डेलवाल said...

सही कहा सोशल मीडिया का डर नेताओं में बढ़ता ही जा रहा है !!

RAJWANT RAJ said...

bahut shi . beemari me nbz pkdna jroori hai ilaaj ke liye .

RAJWANT RAJ said...

bahut shi . beemari me nbz pkdna jroori hai ilaaj ke liye .

दिलबाग विर्क said...

आपकी यह प्रस्तुति 26-09-2013 के चर्चा मंच पर प्रस्तुत की गई है
कृपया पधारें
धन्यवाद

Virendra Kumar Sharma said...

Good job buddy.They have earned insomnia .

Virendra Kumar Sharma said...

सोशल मीडिया और नेता

नींद उड़े इनकी आँखन की ऐसे ही अब सुबहो शाम ,

मीडिया कर दे काम तमाम।

बर्तन भांडे हो नीलाम।

Anonymous said...

автоэкспертиза фрязино
независимая экспертиза лыткарино
аварийные комиссары нижневартовск
авто экспертиза домодедово
http://pogresti.otxodos.ru
http://77rus.gruzoperevozki-sajt.ru
http://namochit.pereezd-nedorogo.ru
экспертиза автомобиля цена
автоэксперт оренбург
http://osvoboditsya.perevozka-gruzov-ati.ru
независимая экспертиза в курске автомобиля
автоэкспертиза на софийской
автоэксперт воронеж
независимая автоэкспертиза после дтп отзывы
http://oslablyat.pereezd-nedorogo.ru
http://interesovat.kiryuxayapodnimubablonadoraxotvechayu.ru

kunwarji's said...

bilkul sahi baat hai...

kunwar ji,

Darshan jangra said...

बहुत सुन्दर प्रस्तुति.. आपको सूचित करते हुए हर्ष हो रहा है कि आपकी पोस्ट हिंदी ब्लॉग समूह में सामिल की गयी और आप की इस प्रविष्टि की चर्चा कल - शुक्रवार - 27/09/2013 को
विवेकानंद जी का शिकागो संभाषण: भारत का वैश्विक परिचय - हिंदी ब्लॉग समूह चर्चा-अंकः24 पर लिंक की गयी है , ताकि अधिक से अधिक लोग आपकी रचना पढ़ सकें . कृपया पधारें, सादर .... Darshan jangra


Sudhanshu Awasthi said...

सोशल मीडिया के स्टिंग से इन कमीनों की नींद भले ही उड़ जाए मगर कुछ दिनों के बाद ये सोने के नए तरीके ईजाद कर ही लेते हैं क्योंकि इसकी भी एक ख़ास वजह है दिव्या जी ,और वो ये कि सोशल मीडिया की पहुँच अभी सिर्फ शहरों एवं कुछ कस्बों तक ही सीमित है । मगर कुछ गरीब, अशिक्षित एवं पिछड़े गाँव भी हैं जहां तक सोशल मीडिया की पहुँच ही नहीं है इसलिए सोशल मीडिया की क्रांति अपना व्यापक रूप नहीं ले पाती । एक ख़ास बात और दिव्या जी हम सिर्फ सोशल मीडिया पर उजागर हुए कुछ कांड के बदले क्या उखाड़ लेते हैं ?बहुत ज्यादा लाइक कर लिया या अपना कमेन्ट लिखकर दिल की भड़ास निकाल ली इससे ज्यादा कुछ नहीं कर पाते। जबकि आज के भारत को क्रान्ति की आवश्यकता है जो इस देश के वर्तमान कार्य प्रणाली को दुरुस्त कर सके ,हमें आवश्यकता है एक मजबूत मंच की जिसके तले हम अपनी एकजुटता,एकता एवं अखंडता का परिचय दे सकें तब शायद मुस्लिम तुस्टीकरण की हिन्दू शोषक राजनीति का अंत हो पाए और ऐसा तभी संभव है जब हिन्दुस्तान के गली कूचो में इन नेताओं की असलियत उजागर हों एवं चुनाव के समय इन नेताओं का स्वागत एक अनपढ़ किसान अपने पैरों के पादुकाओं से करे तभी इन सोशल मीडिया का सटीक प्रभाव इन नेताओं का होगा अन्यथा ये भी सिर्फ कुछ घंटे की ब्रेकिंग न्यूज़ बनकर रह जायेंगी जिनका कुछ भी असर इस देश की भ्रष्ट राजनीतिक पार्टियों पर नहीं होने वाला ।

Sudhanshu Awasthi said...

दिव्या जी मै आपका बहुत आभारी हूँ क्योंकि आपने मुझे अपने ब्लॉग में अपने विचार रखने का स्थान प्रदान किया अन्यथा अधिकतर सोशल साईट से मुझे एक देशद्रोही की तरह निकाल ही दिया जाता है । ये शायद मेरे जीवन का पहला ब्लॉग है जिसमे आपने मेरे इतने कमेंट्स प्रकाशित किये हैं । नहीं तो कई ऐसे हिंदूवादी ब्लोगों से भी हो कर गुजरा हूँ दिव्या जी जहां मेरे कमेंट्स को प्रकाशित करने के बजाय मुझे e mail पर सूचित किया जाता था कि महाशय आपके विचारोत्तेजक कमेंट्स तो अच्छे हैं लेकिन सामाजिकता के लिहाज से प्रकाशित करना उचित नहीं हैं । और फिर बाद में यही लोग मेरे कमेंट्स को काट छांट कर अपने लेख का रूप दे देते थे । आपका आभारी हूँ दिव्या जी कि कम से कम आपने मुझे स्वतंत्र रूप से अपने विचार रखने का मंच एवं मौका दोनों ही प्रदान किया इसलिए ह्रदय से आपका आभार ।

राजीव कुमार झा said...

सही कहा सोशल मीडिया का डर नेताओं में बढ़ता ही जा रहा है.
नई पोस्ट : एक जादुई खिलौना : रुबिक क्यूब

ZEAL said...

सुधांशु जी , आपके क्रांतिकारी विचारों का सदैव स्वागत है। जिन्होंने आपके विचारों को प्रकाशित नहीं किया , उन्होंने बहुत अन्याय किया है आपकी आवाज़ को दबाकर। आपके विचार प्रेरणादायी एवं ऊर्जा से भर देने वाले होते हैं।

मदन मोहन सक्सेना said...

सुन्दर.अच्छी रचना.रुचिकर प्रस्तुति .; हार्दिक साधुवाद एवं सद्भावनाएँ
कभी इधर भी पधारिये

Anonymous said...

Hello. And Bye.

does cialis help premature ejaculation
cheap testosterone viagra href foro
kanye west stay up viagra lyrics
cialis viagra compare
better erection cialis or viagra
cheapest viagra generic substitute
free sample viagra uk
cialis buy cialis
phizer viagra canada
pfizer viagra free trial
cialis cheep
cvs pharmacy viagra cost

26071979
viagra hard
weight loss cialis silagra silagra cumwithuscom
zoloft and viagra
viagra in the philippines
herbal substitue for viagra

Ramakant Singh said...

Aapaane sach kah diya

Ramakant Singh said...

Aapaane sach kah diya

मनोज भारती said...

सत्य कहा आपने !!!

Anonymous said...

[img]http://t1.gstatic.com/images?q=tbn:ANd9GcSu9NsKvUbHuYLAB_G9eYJ3Gj8eMGQU1cLdRCg-O_yyH0NX4lqB[/img]
Качественный [url=http://sonnik.in]сонник[/url] на нашем свете, заходи и узнай что значит то или иной сон. этот сон предскажет тебе всё, а мы вам поможем в этом не легком деле :)



(Не удалять! Администрация сайта)