Sunday, January 1, 2012

प्रतिज्ञा-२०१२






गत वर्ष की प्रतिज्ञा में, क्यों न फिर बघार दूं ,


ग्यारह की प्रतिज्ञा को , बारह में विस्तार दूं ,



पुष्प सारे विश्व के  , मैं इन चरण पे वार दूं,


माँ तेरे इस रूप को , मैं फिर ज़रा संवार दूं,




हर ख़ुशी को आज इस धरा पे मैं उतार दूं ,


माँ तेरी पुकार पे मैं जान भी निसार दूं !




माँ भारती की आरती में , देर न हो , कल न हो !


बलिदान मेरे पूर्वजों का, अब कभी विफल न हो !



मिटटी के इस क़र्ज़ को मैं फ़र्ज़ से उतार दूं,


माँ तुझे मैं प्यार से, दुलार दूं, संवार दूं !



जय हिंद !


जय भारत !


वन्देमातरम !



Zeal






60 comments:

चन्द्र भूषण मिश्र ‘ग़ाफ़िल’ said...

बहुत सुन्दर वाह! बधाई और शुभकामना

Bikramjit said...

indeeed yessssssss

JAI HIND tooooooooo

Bikram's

Er. Diwas Dinesh Gaur said...

आज वर्ष के प्रथम दिवस आपकी यह सुन्दर कविता पढ़कर बहुत अच्छा लगा| कितना सुन्दर व पवित्र लिखती हैं आप| भारत माँ के प्रति आपकी भावनाओं को दृष्टिगोचर होते देख रहा हूँ|
माँ भारती को आपकी आवश्यकता है| इन्ही भावनाओं से आपको एक विजय प्राप्त करनी है|
ग्यारह की इस प्रतिज्ञा को बारह में विस्तार देना ही है| इश्वर करे आपकी प्रतिज्ञा पूरी हो| आपकी लेखनी इसी प्रकार चलती रहे और नए आयामों को, नए विचारों को जन्म देती रहे| माँ भारती के प्रति आप अपने कर्तव्यों का और अधिक इच्छा शक्ती से पालन करती रहें|
आपकी इस सुन्दर कविता का मैं प्रचारक बनना चाहता हूँ|
आभार
सादर
दिवस

mahendra verma said...

मां भारती की आरती में, देर न हो, कल न हो,
बलिदान मेरे पूर्वजों का, अब कभी विफल न हो।

आपकी यह गरिमामयी अभिलाषा हम सब के लिए उत्प्रेरक है।
प्रत्येक सच्चे भारतवासी के मन में यह अभिलाषा प्रस्फुटित हो !

Kunwar Kusumesh said...

नए साल की हार्दिक बधाई .

अनुपमा पाठक said...

बेहद सुन्दर!

जय हिंद! जय भारत!

Rakesh Kumar said...

जय हो ...जय हो...

माँ भारती की सदा जय हो.

आपकी पावन प्रतिज्ञा की जय हो.

P.N. Subramanian said...

"माँ तुझे संवार दूँ". अनेकों भावनाएं उथल पुथल मचा रहीं हैं. नव वर्ष की शुभकामनाएं.

ASHA BISHT said...

behad khubsurat shabd rachna..

कुश्वंश said...

सुन्दर , अतिसुन्दर.प्रत्येक भारतीय के लिए बेहद जरूरी प्रतिज्ञा. नववर्ष की हार्दिक शुभकामनाये

DUSK-DRIZZLE said...

BAHUT SUNDAR

सुरेन्द्र सिंह " झंझट " said...

jay ho bharatmata ki ....
नव वर्ष मंगलमय हो ..
बहुत बहुत हार्दिक शुभकामनायें

dheerendra said...

बहुत सुंदर,वन्देमातरम,...
नया साल आपके जीवन को प्रेम एवं विश्वास से महकाता रहे,

--"नये साल की खुशी मनाएं"--

Rajesh Kumari said...

nav varsh ki haardik badhaai.jay bharat maa,vandemataram.

प्रतिभा सक्सेना said...

सुन्र संकल्प !
हमारी मंगल-कामनाएं सदा आपके साथ हैं !

M VERMA said...

वन्देमातरम
happy new year

karan paal singh said...

bharat mata ki jai... Aaj hume aise jazbe ki har yuvao me jarurat h, jo pehle desh, fir rajya, fir pariwar, evam baad me khud ke liye soche.. Jai hind.

वन्दना said...

शानदार प्रस्तुति…………
नववर्ष की हार्दिक शुभकामनाएं.

Viral Trivedi said...

सुन्दर कविता. बस ऐसे ही लिखते रहे.

Viral Trivedi said...

सुन्दर कविता. बस ऐसे ही लिखते रहे.

डॉ.मीनाक्षी स्वामी said...

"मां तेरी पुकार पे मैं जान भी निसार दूं"
मातृ भूमि के प्रति आपके शुभ भावों को नमन।
आपको व आपके परिवार को नववर्ष की शुभकामनाएं।
http://meenakshiswami.blogspot.com/2011/12/blog-post_31.html

रेखा said...

बेहतरीन और सुन्दर रचना ..नववर्ष मंगलमय हो

कविता रावत said...

Maa bharti ko samarpit bahut badiya sankalp geet prastuti hetu aabhar..
Apko spariwar NAVVARSH kee haardik shubhkamnayen!

अरूण साथी said...

जय हिन्द

Anonymous said...

कविता पढकर पहुत ही अच्छा लगा ,... नववर्ष की हार्दिक शुभकामनाये स्वीकार करें ...मैं जागरण जंक्शन.कॉम पर नियमित लिखता हूँ ,..शीघ्र प्रयत्न करूँगा कि इस मंच पर भी अपना ब्लॉग बनाऊं ..आप सब को ब्लॉग पर आने का हार्दिक आमंत्रण देता हूँ ..सादर नमन
http://santo1979.jagranjunction.com/

dinesh aggarwal said...

देशभक्ति से परिपूर्ण रचना के लिये बधाई
एवं नये वर्ष की हार्दिक शुभकामनायें।

Kailash Sharma said...

बहुत प्रेरक और सुन्दर प्रस्तुति...वंदे मातरम !

कुमार संतोष said...

बहुत सुंदर रचना,


नव वर्ष की हार्दिक शुभकामनायें !

प्रवीण पाण्डेय said...

हर देशवासी की यही प्रतिज्ञा हो..

Atul Shrivastava said...

जय हिंद...

वंदे मातरम्

डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री मयंक (उच्चारण) said...

दस दिनों तक नेट से बाहर रहा! केवल साइबर कैफे में जाकर मेल चेक किये और एक-दो पुरानी रचनाओं को पोस्ट कर दिया। लेकिन आज से मैं पूरी तरह से अपने काम पर लौट आया हूँ!
नववर्ष की हार्दिक मंगलकामनाओं के आपको सूचित करते हुए हर्ष हो रहा है कि-
आपकी इस प्रविष्टी की चर्चा कल मंगलवार के चर्चा मंच पर भी होगी!

दीर्घतमा said...

बहुत अच्छी पोस्ट ब्रिटिश नव वर्ष की हार्दिक बधाई ,आपकी प्रस्तुति तो अच्छी होती ही है भारत माता की लाडली पुत्री है आप. बहुत-बहुत धन्यवाद

निर्दोष दीक्षित said...

अत्युत्तम प्रस्तुति... बधाई व नूतन वर्ष की शुभकामना...

vidya said...

बहुत खूब.............
जय भारत.
नववर्ष शुभ हो...आपके लिए,हम सब के लिए, हमारे भारत के लिए...

अरुण कुमार निगम (mitanigoth2.blogspot.com) said...

माँ हिंद के चरणों में अर्पित नव-वर्ष के प्रथम-पुष्प की सुवास और देश-प्रेम की भावना हर भारत वासी तक पहुँचे.

भारतीय नागरिक - Indian Citizen said...

देश हित में कुछ अच्छा घटित हों, हम लोग कुछ अच्छा काम करें यही कामना है. आपका संकल्प बहुत अच्छा लगा.

Pragya Sharma said...

नव वर्ष की हार्दिक शुभकामनायें ,
हम सभी के हृदय में करूणा और कोमल भावों की अभिवृद्धि हो!!

Pragya Sharma said...

नव वर्ष की हार्दिक शुभकामनायें ,
हम सभी के हृदय में करूणा और कोमल भावों की अभिवृद्धि हो!!

सदा said...

बहुत खूबसूरती से प्रत्‍येक शब्‍द लिखा गया है भावनाओं को व्‍यक्‍त करती इस अनुपम प्रस्‍तुति के लिए बधाई ... नववर्ष की अनंत शुभकामनाएं ।

सदा said...

कल 04/01/2012 को आपकी यह पोस्ट नयी पुरानी हलचल पर लिंक की जा रही हैं.आपके सुझावों का स्‍वागत है, 2011 बीता नहीं है ... !

धन्यवाद!

Viral Trivedi said...

आप गुजराती नहीं जानते और पढ़ नहीं पाए पर हम तो हिंदी जानते है. आपने अहेसास दिलाया की गुजराती से ज्यादा हिंदी में मेरा लेखन ज्यादा लोगो तक पहोच पायेगा. वैसे भी गुजरती लिखने वाले फ़िलहाल कोमल कोमल लिखने में व्यस्त है. हिंदी में जिस तरह से राष्ट्रवाद पर लिखा जा रहा है सायद उतना गुजराती में नहीं मिलेगा.

डा. अरुणा कपूर. said...

बहुत सुन्दर शब्दों से अलंकृत रचना!....नूतन वर्ष की ढेरों मंगलकामनाएं!

संतोष कुमार said...

कविता पढकर पहुत ही अच्छा लगा ,... नववर्ष की हार्दिक शुभकामनाये स्वीकार करें ...मैं जागरण जंक्शन.कॉम पर नियमित लिखता हूँ ,..शीघ्र प्रयत्न करूँगा कि इस मंच पर भी अपना ब्लॉग बनाऊं ..आप सब को ब्लॉग पर आने का हार्दिक आमंत्रण देता हूँ ..सादर नमन
http://santo1979.jagranjunction.com/

sangita said...

वाह, अतिसुन्दर .देश के प्रति इस तरह की अभिव्यक्ति सदा ही मोहित करती है |

Pahal A milestone said...

bahut kub likha he PAhal a mile stone ki or se apko or pure blogger ke sabhi shyogion ko naye versh ki shubhkamnayen.

ASHOK BIRLA said...

aaj maa bharti ki aarati me kuch to chadhana padega ......bahut ooj purna bhav
जय हिंद !

जय भारत !

वन्देमातरम !

Dr.Nidhi Tandon said...

वंदे मातरम ! !

मदन शर्मा said...

बहुत सुन्दर विचार धन्यवाद आपको ....... ईश्वर आपकी इच्छा पूरी करे .........आमीन ! मेरे लिए हर दिन नया होता है तथा हर दिन की नयी किरण एक नया सन्देश ले कर आती है ..परम पिता परमात्मा से मेरे प्रार्थना है की आपका हर दिन हर पल सुखद हो .....

मदन शर्मा said...

आपकी कविता इतनी अच्छी लगी की बिना आपकी अनुमति के इसकी चोरी कर के मै इसे फेस बुक पर पेस्ट कर रहा हूँ ...कृपया इस चोर को माफ़ कीजियेगा .....

वन्दना अवस्थी दुबे said...

सुन्दर प्रतिज्ञा है.
नववर्ष मंगलमय हो.

sushma 'आहुति' said...

बहुत खुबसूरत रचना अभिवयक्ति.........

Ramakant Singh said...

janmabhumi ke prati aapake prem aur shraddha ko naman
jai hind

Ramakant Singh said...

janmabhumi ke prati prem ko naman
sundar rachana par kotish badhai
jai hind

Ramakant Singh said...

janmabhumi ke prati prem ko naman
sundar rachana par kotish badhai
jai hind

Devendra Dutta Mishra said...

ओजपूर्ण प्रस्तुति। बधाई।

निर्झर'नीर said...

खुबसूरत अभिवयक्ति......जय हिंद! जय भारत!

सोच से ही इन्सान महान बनता है .यक़ीनन .आप की सोच महान है

Anonymous said...

I like it whenever people come together and share opinions.
Great website, continue the good work!

Also visit my blog ... LandonJCotrell

Anonymous said...

It's an amazing article in favor of all the internet users; they will obtain advantage from it I am sure.


Here is my blog post :: RudolphXFabin

Anonymous said...

I really like what you guys are up too. This kind of clever work and coverage!

Keep up the superb works guys I've incorporated you guys to blogroll.


Stop by my page :: ZaneHSauveur

Anonymous said...

I feel that is among the so much vital information for me.
And i'm glad reading your article. However wanna observation on few basic things,
The site style is wonderful, the articles is in point of fact
nice : D. Just right process, cheers

Review my blog - LyleTGonzeles