Wednesday, August 24, 2011

एक श्रेष्ठ ब्लॉगर और व्यक्तित्व ,डॉ अमर कुमार का निधन --विनम्र श्रद्धांजलि.


show details Jul 9

Divya,
I guess over long absence that you got operated as planned for june,
recovering well and shall be back with high spirits,
I recall that you opted venue of surgery at motherland,
so you should be with your didi.. what about her cholelithiasis..
has she too has got rid of it ?

Good wishes to everyone
amar


-------------------


dramar21071 to me
show details Jul 9

Thank God,
I am relieved.... you will pass through test of time.
I think you should not keep yourself behind other priorities, important whatsoever.
As per cardiac issue, having LVH, myopathies, ASD,VSD, Sick Sinus Syndrome are no problem in hands of an expert anesthetist, now a days.
Living in fear of one more newly discovered artifact is not wise. For keeping yourself in bad shape, you become answerable to your Children an Husband, too ! Bearing the burden of being sick to become a martyr one day... is something beyond my understanding !
Take Care.. your family needs you.
Bless you
amar
- Show quoted text -

------------------


डा० अमर कुमार said...

जन्मदिन की असीम शुभेच्छायें !


-------------------------------------

ब्लौगजगत में पदार्पण के बाद जिस हस्ती से प्रथम परिचय हुआ वे थे डॉ अमर कुमार, जिनसे एक वर्ष के सानिध्य में बहुत कुछ सीखा। ह्रदय से उनकी ऋणी रहूंगी। वे इतने व्यस्त रहते थे फिर भी , समय-समय पर मेल अथवा फोन द्वारा मेरा समाचार लेते रहते थे। कभी मैं किसी प्रकार की मुश्किल में रहती थी तो भी सदैव उन्होंने मेरा मार्गदर्शन किया, जो उनके बडप्पन और विशाल ह्रदय का परिचायक है।

पिछले महीने मेरी अस्वस्थता के कारण ब्लॉग पर मेरी अनुपस्थिति से चिंतित होकर , ९ जुलाई को जो मेल उन्होंने लिखी , उसे यहाँ उनकी यादगार के तौर पर प्रकाशित कर रही हूँ।

डॉ अमर की सर्जरी के बाद , उन्हें बोलने में बहुत तकलीफ थी , फिर भी कष्ट के साथ बात करते हुए हमेशा मेरे परिवार का ध्यान रखा। उन्होंने सदैव स्वयं से ज्यादा दूसरों को मान दिया और स्नेह दिया।

मेरी उनसे अंतिम बार बात ११ जुलाई २०११ को हुयी जब उन्होंने मुझे जन्मदिन की बधाई दी थी।

डॉ अमर के निधन से ब्लॉगजगत ने एक श्रेष्ठ ब्लॉगर खो दिया है । इस क्षति की भरपाई नहीं हो सकती। अब हमारे पास उनकी सिर्फ स्मृतियाँ ही शेष हैं। मन बहुत उदास है।

ईश्वर से प्रार्थना है , उनकी आत्मा को शान्ति दे, और शोक संतप्त परिवार को इतना बड़ा दुःख सहने की शक्ति दे।

विनम्र श्रद्धांजलि।

56 comments:

सतीश सक्सेना said...
This comment has been removed by the author.
संतोष त्रिवेदी said...

उनका जाना बहुत ही अफसोसनाक और दुखद है.उनके जैसा ब्लॉगर और टिपियाकार दूसरा नहीं है.
इसी बारह अगस्त को उनसे मुलाकात हुई थी,उनकी याद में यह संस्मरण पढ़ें www.santoshtrivedi.com

सतीश सक्सेना said...


बेहद कष्टदायक खबर !

कल जब पता चला तब आँखों में आंसू छलक उठे थे इस ईमानदार और बेहद विद्वान् ब्लोगर के लिए, जिनसे मैं कभी नहीं मिल पाया !

पहली बार मुझे जब उनके बारे में पता चला था कि कई भाषाओं के इस विद्वान् की टक्कर के लोग ब्लॉग जगत में दुर्लभ हैं...देश के जिन हिस्सों में वे रहे वहां की भाषा व संस्कृतियों के बेहतरीन जानकार रहे ...आखिर तक वे टिप्पणियों के माडरेशन के खिलाफ रहे !

आपके व्यक्तिगत पत्रों से उनका विशाल ह्रदय झलकता है डॉ दिव्या !

दादा अमर समय से पहले, बहुत जल्दी चले गए , उनके बारे में कुछ पहले भी लिखा था जो उनके चरणों में समर्पित कर रहा हूँ !

http://satish-saxena.blogspot.com/2010/08/blog-post_30.html
http://satish-saxena.blogspot.com/2010/12/blog-post_22.html

वे बहुत अच्छे थे....

लगता है कोई अपना हमें छोड़ कर चला गया है, मगर वे हिंदी ब्लॉग जगत में अपने निशान छोड़ गए हैं जो अमर रहेंगे !

: केवल राम : said...

इस दुखद समाचार को पढ़कर मन बहुत खिन्न है ......ईश्वर उनकी आत्मा को शांति प्रदान करें ..!

दिनेशराय द्विवेदी Dineshrai Dwivedi said...

समाचार से बहुत दुःखी हूँ। वे असमय ही हमें छोड़ गए।

kshama said...

Oh....ye to bahut dukhdayee samaachar hai. Wishwas nahee ho raha.
Vinamr shraddhanjali.

DR. ANWER JAMAL said...

विनम्र श्रद्धांजलि,
मौत एक सच है जिसे झुठलाया नहीं जा सकता और न ही बदला जा सकता है।
डा. अमर कुमार जी इस जहान ए फ़ानी से कूच कर गए, वाक़ई एक अच्छा साथी हमसे बिछुड़ गया। वे एक अच्छे ज्ञानी थे और चीज़ों को बारीकी से समझते थे।
उनकी एक टिप्पणी तो उनके ज्ञान का बहुत ही उम्दा नमूना है। उनकी टिप्पणी को ही हमने ‘कमेंट्स गार्डन‘ की पहली पोस्ट बनाया है।
आप भी देखिए उनके पांडित्य का एक उम्दा नमूना
वसुधा एक है और सारी धरती के लोग एक ही परिवार है Holy family

डॉ टी एस दराल said...

इतने जीवंत मनुष्य का यूँ अचानक चले जाना हम सब के लिए कष्टदायक लगता है . हमेशा एक प्रेरणा श्रोत और मार्गदर्शक रहे . उनकी टिप्पणियों को कई कई बार पढ़कर उनमे छुपा गूढ़ ज्ञान और मर्म समझ में आता था .
ईश्वर उन्हें अपने चरणों में स्थान दे , यही प्रार्थना है .

भारतीय नागरिक - Indian Citizen said...

बिल्कुल खरा आदमी और खरा कहने वाला भी. सही को सही लिखते समय डा०साहब की लेखनी अटकती नहीं थी. क्या कहें, मजबूर हैं मृत्यु के आगे.. डा०साहब को श्रद्धांजलि.. उनका परिवार कैसे यह दुख झेलेगा...

Bhushan said...

इस समाचार से दुख हुआ.

JC said...

दिव्या जी, डॉक्टर अमर कुमार के असामयिक निधन के बारे में डॉक्टर दराल के ब्लॉग और अब आपसे जान अत्यंत दुःख हुआ...
मैं भगवान् से उनकी आत्मा को शान्ति देने की प्रार्थना करता हूँ और उनके एनी परिवार के अदास्यों को दुःख सहने की शक्ति देने के लिए भी!

स्वयं तुम्हारे अपने स्वास्थ्य के बारे में भी पता चला... आशा करता हूँ कि तुम अपना (और भगवान् भी तुम्हारा) ख्याल रखेगे!

ajit gupta said...

ओह बेहद दुखद समाचार है, प्रभु से प्रार्थना है कि उनके परिवारजनों को हिम्‍मत दे।

सुज्ञ said...

एक स्पष्ठ वक्ता अब हमारे बीच नहीं है।
यह कमी ही चित को विचलित करने के लिए काफी है।
मेरी श्रद्धांजली!! आत्मा अपने चीर लक्ष्यों को प्राप्त करे।

anu said...

बहुत दुखद है यह -विनम्र श्रद्धांजलि

Khushdeep Sehgal said...

इस अज़ीम शख्सीयत को सामने देखकर आज खुदा भी हैरान होगा कि इसके आराम के लिए जन्नत से भी ऊंचा स्थान कहां से लाऊं...पिछले साल पांच नवंबर को दीवाली वाले दिन पापा को खोया और अब डॉक्टर साहब को...कैंसर जैसी नामुराद बीमारी से भी लड़ते हुए एक सेकंड के लिए अपनी ज़िंदादिली नहीं खोने वाले इस शख्स का साथ पाकर खुदा भी अब अपनी किस्मत पर इतराएगा....राजेश खन्ना की फिल्म आनंद की आखिरी पंक्ति याद आ रही है...

आनंद मरा नहीं, आनंद कभी मरते नहीं...

इसे अब बदल देना चाहिए...

अमर मरे नहीं, अमर कभी मरते नहीं...

जय हिंद...

Rakesh Kumar said...

बेहद शोक जनक.
विनम्र श्रद्धांजलि.

अरूण साथी said...

बहुत दुखद, शत शत नमन।

पी.एस .भाकुनी said...

दुखद ! ईश्वर उनकी आत्मा को शांति प्रदान करे और दुःख की इस घडी में उनके आश्रितों को संबल प्रदान करें,

Shah Nawaz said...

अत्यंत दुखद समाचार है. ब्लॉग जगत को एक बहुत बड़ा नुक्सान हुआ है... खुदा उनके परिजनों और मित्रों को इस मुश्किल घडी से निपटने की ताकत दे...

अमर वाकई अमर हैं, हमारे दिलों में... अपने ब्लॉग पर... अनेकों लेखों पर अपनी सशक्त टिप्पणियों के माध्यम से...

aarkay said...

ईश्वर दिवंगत आत्मा को शांति व शोक संतप्त परिवार को संबल प्रदान करे , यही प्रार्थना है !

यादें said...

भगवान उनकी आत्मा को शांति प्रदान करें !
विन्रम श्रद्धांजलि!

वाणी गीत said...

दुखद ...
विनम्र श्रद्धांजलि !

रेखा said...

बहुत दुःख हुआ ...उनको विनम्र श्रधांजलि .भगवान उनकी आत्मा को शांति प्रदान करें व् परिवार को हिम्मत दें

शालिनी कौशिक said...

डॉ.अमर कुमार जी को विनम्र श्रद्धांजलि

Kunwar Kusumesh said...

अत्यंत दुखद समाचार है.
उनको विनम्र श्रधांजलि .

ROHIT said...

वाकई मे यकीन नही हो रहा है.

बहुत बुरी खबर है.
भगवान उनकी आत्मा को शांति प्रदान करे.

Rajendra Swarnkar : राजेन्द्र स्वर्णकार said...

डॉ.अमर कुमार जी को विनम्र श्रद्धांजलि !

दिवंगत आत्मा को परमात्मा शांति और उनके परिवार जनों को दुःख सहने की शक्ति प्रदान करें !

Pallavi said...

भगवान उनकी आत्मा को शांति प्रदान करे और उन के परिवार जनो को इस दुख को सहने की शक्ति प्रदान करे...

कुश्वंश said...

भगवान उनकी आत्मा को शांति प्रदान करे और उन के परिवार जनो को इस दुख को सहने की शक्ति प्रदान करे.

विनम्र श्रद्धांजलि

Sawai Singh Rajpurohit said...

ईश्वर मृ्तात्मा को अपनी शरण में लेकर शांति प्रदान करें!

प्रतिभा सक्सेना said...

डॉ.अमर कुमार जी का व्यक्तित्व असाधारण गुणों से संपन्न रहा ,उन्हें विस्मृत नहीं किया जा सकता .
विनम्र श्रद्धांजलि !

Sawai Singh Rajpurohit said...

और परि्वार को दु:ख सहने की शक्ति प्रदान करे!
आदरणीय श्री डॉ.अमर कुमार जी को हमारी विनम्र श्रद्धांजलि!!

जयकृष्ण राय तुषार said...

हमारी भी विनम्र श्रद्धांजलि

ashish said...

डॉ.अमर कुमार जी को विनम्र श्रद्धांजलि

सुरेन्द्र सिंह " झंझट " said...

बहुत ही दुखद घटना ...
ईश्वर डा० साहब की आत्मा को शांति दे और उनके परिजनों को इस संकट से उबरने का साहस प्रदान करे |

डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री मयंक (उच्चारण) said...

कल अलबेला खत्री जी के ब्लॉग पर यह हृदयविदारक समाचार पढ़कर मेरे मन को गहरा आघात पहुँचा।
--
डॉ.अमर कुमार जी को अपनी भावभीनी श्रद्धांजलि समर्पित करता हूँ!

indu puri said...

मैं शोक्ड हूँ.यकीं नही हो रहा अब तक.

चंद्रमौलेश्वर प्रसाद said...

हर एक को प्रोत्साहित करना, मार्गदर्शन करना और संपर्क बनाए रखना उनकी आदत बन गई थी। कौन कहता है कि ब्लाग जगत आभासी दुनिया है। ईश्वर उनकी आत्मा को शांति दें।

mahendra verma said...

डॉ. अमर कुमार जी नहीं रहे! जान कर मन बहुत दुखी ओर उदास है।
उनके विचारों के द्वारा उनके व्यक्तित्व की विशालता से परिचय हुआ था।
उन्हें मेरी विनम्र श्रद्धांजलि। ईश्वर से प्रार्थना है कि उनकी आत्मा कों शांति प्रदान करे और परिजनों को इस असीम दुख को सहने की शक्ति प्रदान करें।

DR. ANWER JAMAL said...

डा. साहब अक्सर टिप्पणी पर मॉडरेशन लगाए जाने के विरोधी थे।
इसके खि़लाफ़ वह अक्सर ही आवाज़ बुलंद किया करते थे।
उनकी ख़ुशी के लिए कम से कम एक दिन सभी लोग अपने ब्लॉग से मॉडरेशन हटा लें तो उनके लिए हमारी तरफ़ से यह एक सम्मान होगा।
वह एक ज्ञानी आदमी थे।
उनकी टिप्पणी उनके ज्ञान का प्रमाण है।
जिसे आप देख सकते हैं इस लिंक पर
सारी वसुधा एक परिवार है

smshindi By Sonu said...

डॉ.अमर कुमार जी को विनम्र श्रद्धांजलि

मदन शर्मा said...

देश के कार्य में अति व्यस्त होने के कारण एक लम्बे अंतराल के बाद आप के ब्लाग पे आने के लिए माफ़ी चाहता हूँ
बहुत बुरी खबर है ये
यह तो विधि का विधान है की हमें एक न एक दिन यह दुनिया छोड़ कर तो जाना ही है .
भगवान उनकी आत्मा को शांति प्रदान करे

मदन शर्मा said...

देश के कार्य में अति व्यस्त होने के कारण एक लम्बे अंतराल के बाद आप के ब्लाग पे आने के लिए माफ़ी चाहता हूँ
बहुत बुरी खबर है ये
यह तो विधि का विधान है की हमें एक न एक दिन यह दुनिया छोड़ कर तो जाना ही है .
भगवान उनकी आत्मा को शांति प्रदान करे

Dr. Braj Kishor said...

विनम्र श्रद्धांजलि !

AlbelaKhatri.com said...

डॉ अमर कुमार का विछोह असह्य है . उनसे मिलने का सौभग्य मुझे कभी नहीं मिला, लेकिन मैं जिस व्यक्ति से एक बार मिलने का प्रबल इच्छुक था उसके असामयिक निधन से दुखी हूँ ...

विनम्र श्रद्धांजलि !

Poorviya said...

विनम्र श्रद्धांजलि.

हरीश प्रकाश गुप्त said...

बहुत दुखद है। उनको श्रद्धासुमन समर्पित हैं।

Udan Tashtari said...

विनम्र श्रद्धांजलि

शोभना चौरे said...

दुखद समाचार |ईश्वर उनकी आत्मा को शांति दे व् परिवार को दुःख सहने की शक्ति |
विनम्र श्रद्धांजली |

अरुण कुमार निगम (mitanigoth2.blogspot.com) said...

बड़े शौक से सुन रहा था जमाना
हमीं सो गये दस्ताँ कहते-कहते.

हमारी विनम्र श्रद्धंजलि.ईश्वर शोक-संतप्त परिवार को दु:ख सहने की शक्ति प्रदान करे.

Arvind Jangid said...

हम सभी की तरफ से विनम्र श्रद्धांजली |

G Vishwanath said...

Sad news.
I used to like his comments.
May his soul rest in peace.
Regards
GV

प्रवीण पाण्डेय said...

विनम्र श्रद्धांजलि।

P.N. Subramanian said...

विनम्र श्रद्धांजलि.

सदा said...

विनम्र श्रद्धांजलि ...।

अजय कुमार said...

भगवान उनकी आत्मा को शान्ति प्रदान करे