Monday, March 11, 2013

कांग्रेस का दोहरा चरित्र देखिये --

हमारे देश के दो वीर सैनिको के सर धोखे से काट लिए गए उनमें से एक की विधवा ने कई दिनों तक भूख हड़ताल की पर राहुल गाँधी न तो उससे मिलने गया और ना ही कभी उनकी और उनके परिवार की खबर ली पर वोट बैंक का काम देखो एक DSP जो बलात्कारियो को शय देते हुए मारा गया उसकी पत्नी 'परवीन' की खोज खबर लेने पहुच गया और इसको सेकुलरिज्म कहा जाता है . 

मुस्लिम तुष्टिकरण के लिए नीचे दिया गया लिंक देखिये--

http://www.ndtv.com/article/india/rahul-gandhi-meets-widow-of-murdered-up-police-officer-zia-ul-haq-340323



कुम्भ मे रेल स्टेशन पर कई हिन्दू मारे गए , राहुल गाँधी नहीं आये

हैदराबाद बम ब्लास्ट मे कई हिन्दू मारे गए , राहुल गाँधी नहीं आये

सेना के जवान हेमराज जिसका सर पाकिस्तानी सेना ने काट दिया , राहुल गाँधी नहीं आये
हेमराज की विधवा अपने पति के सर वापस लाने की गुहार करती रही लेकिन केंद्र का कोई मंत्री उसकी गुहार सुनने नही गया

लेकिन एक मुसलमान ऑफिसर जिया उल हक की मौत पर राहुल गाँधी उस परिवार से मिलने चले गए ?

पुरे दो घंटे उसके घर रहे और फिर कब्रिस्तान में जाकर उसकी कब्र पर फतिहा भी पढ़े ..
क्यों की कांग्रेस , समाजवादी पार्टी के लिए जिया उल हक एक सरकारी अफसर की मौत के रूप मे नहीं देख रही है बल्कि एक मुसलमान की मौत के रूप मे देख रही है..


Courtesy Facebook

15 comments:

DR. ANWER JAMAL said...

dohre charitr ke bina n rajniti hoti hai aur n kootniti.

kanchanlata chaturvedi said...

बहुत उम्दा प्रस्तुति...बहुत बहुत बधाई...

Aziz Jaunpuri said...

AK NAHI KITNE CHEHRE HAIN,INKE ROJ BADLTE CHEHRE HAI

भारतीय नागरिक - Indian Citizen said...

मुझे तो लोगों के ऊपर गुस्सा आता है जो सब कुछ जानते हुये भी अनजान बन जाते हैं.

पूरण खण्डेलवाल said...

वोटबेंक का लालच क्या नहीं करवा देती !!

दिनेश पारीक said...

बहुत उम्दा प्रस्तुति आभार

आज की मेरी नई रचना आपके विचारो के इंतजार में
अर्ज सुनिये

आप मेरे भी ब्लॉग का अनुसरण करे

पी.सी.गोदियाल "परचेत" said...

हिन्दू हैं इसी काबिल !

Ramakant Singh said...

देश में सभी बराबर हैं भेदभाव उचित नहीं

Aditya Tikku said...

Ispasht aur satik--***

MANU PRAKASH TYAGI said...

sach kaha

karn anupam said...

Let's C! If people do really able to C that...

Anonymous said...

Terrific work! This is the kind of info that are meant to be shared around
the net. Shame on the search engines for not
positioning this post higher! Come on over and
visit my website . Thank you =)

My web site: here

दिवस said...

क्या करें, ये सेक्युलरिज्म बहुत नंगा नाच नचाता है। हिन्ज्दों की फ़ौज तैयार है। ताली पीट-पीट कर भी नाचेंगे। मुझे तो लगता है कि उस DSP की मौत के दिन को वार्षिक स्याप दिवस घोषित कर देना चाहिए।

राजेश सिंह said...

आपसे पूरी सहमति है दोनों हाथ का अंगूठा लगा कर .पार्टियाँ कोई भी हो नारा है तुष्टिकरण और केवल तुष्टिकरण मुझे स्मरण नहीं आता दिल्ली सामूहिक दुष्कर्म पर राहुल गाँधी कोई उवाच या मगरमच्छिय विलाप/प्रलाप

surenderpal vaidya said...

आखिर हिन्दू समाज को समझ आने में और कितना समय लगेगा?