Thursday, October 18, 2012

तुम मुझे वोट दो , मैं तुम्हें शौचालय दूंगा !

हर चैनल पर विद्या बालन का एक विज्ञापन दिखाया जा रहा है ----

""जहाँ 'सोच' है , वहाँ शौचालय है" --जनहित में जारी (भारत सरकार द्वारा)

-------------------------------------------------------------------------------

इसे देखकर मन में बस एक ही प्रश्न आ रहा है कि --


चुनाव नज़दीक है तो डूबती नैय्या पार लगाने के लिए गावों और कस्बों में शौचालय बनवाकर लुभाया  रहा है। अभी तक इन गरीबों का  कष्ट दिखा नहीं था क्या ? पिछले चुनाव शराब की बोतलें देकर  जीता था , इस बार शौचालय से ?

वाह ! .......गजब की चुस्ती या 65 साल लम्बी सरकारी शौच ? 

Zeal  

22 comments:

दीर्घतमा said...

bahut sahi abhibyakti----.

पी.सी.गोदियाल "परचेत" said...

दिव्या जी , ये इनकी गटर मानसिकता है ! दिल्ली इस देश की राजधानी है, जहां ५०% महिलाएं कामकाजी है ! जिन्हें रोज द्युति के लिए एक छोर से दुसरे छोर सफ़र करना पड़ता है !कितने बस स्टोपो पर इन्होने शोचालय बनाए ?

Maheshwari kaneri said...

क्या होगा इस देश का..???

expression said...

:-)
इतना खाया है...कब्ज हुआ होगा....यहाँ भी स्वार्थ ही है.

अनु

Anonymous said...

I couldn't have asked for a better blog. You happen to be always at hand to offer excellent guidance, going straight away to the point for easy understanding of your site visitors. You're really a terrific pro in this subject matter. Many thanks for being there visitors like me.

दिवस said...

३५ लाख के शौचालय बनाए ही इसलिए हैं। क्योंकि सस्ते में तो इन कांग्रेसियों का पेट साफ़ होता नहीं। ६५ साल तक लूटना भी तो ज़रूरी था,ताकि देश के मंदिरों को तोड़कर वहाँ महंगे फाइव स्टार शौचालय बनाए जा सकें।

वैसे देश में इसकी शुरुआत हो चुकी है। एक सच्चे भारतीय के लिए शहीद खुदीराम बोस की समाधि किसी मंदिर के समान ही है। उनकी समाधि पर शौचालय बन चूका है।

surenderpal vaidya said...

सोनिया की कठपुतली मनमोहनी सरकार का हाजमा बिगड़ गया है ।

Mansoorali Hashmi said...

तुम मुझे शौचालय दो, मैं तुम्हे 'खाद' दूँगा !

http://aatm-manthan.com

Mansoorali Hashmi said...

तुम मुझे शौचालय दो, मैं तुम्हे 'खाद' दूँगा !

http://aatm-manthan.com

Chand K Sharma said...

चुनाव की मण्डी में हर चीज बिकती है - ईमान, शराब,वादे,शौचालय,घर्मगुरु, नेता, भीड, मीडिया तथा और भी जो कुछ आप सोच सकें। अब तो हमारा देश ही on sale हो चुका है।

mahendra mishra said...

दिलचस्प रोचक पोस्ट ...

सुधाकल्प said...

गहरा और तीखा व्यंग !

भारतीय नागरिक - Indian Citizen said...

मिलेगा, मिलेगा, यही तो मिलेगा.

Prabodh Kumar Govil said...

Vidya Balan ab typed hoti ja rahi hain,"Dirty" theam hi pasand aa rahi hai unhen.

boletobindas said...

दीर्घतम शौच सरकार की.....हाहाहाहा

मदन शर्मा said...

आज की राजनीती संसद रूपी शौचालय पर ही आकर अटक गयी है ...जिसका काम ही है गंध फैलाना ....धन्य है ऐसे नेता ..

lokendra singh said...

हा ये सरकार अब तक देश में शौच ही कर रही थी...
इसे मैंने फेसबुक पर भी शेयर किया है

Bhola-Krishna said...

शाबाश बेटा ,शुक्रिया ! शौचालय के साथ बोनस में , ६५ वर्ष बाद , २३ करोडवा आधार कार्ड देकर उनका अपने राजनेताओं और राजाधिकारियों को करप्शन मुक्त कर देने का अभियान भी बधाई के पात्र है ! 'आम' जनता जय जयकर करे और स
मवेत स्वरों में गाये "मा तुम्हे सलाम "
- अंकल आंटी , बोस्टन , यू एस ए से

आशा जोगळेकर said...

मंसूर अली जी की टिप्पणी से एकदम सहमत ।
बढिया व्यंग ।

mahendra verma said...

विजयादशमी की हार्दिक शुभकामनाएं।

Anonymous said...

I don't know whether it's just me or if perhaps everybody else encountering problems with your blog.
It looks like some of the written text within your posts are running off
the screen. Can somebody else please comment and let me know if this is happening to them too?

This may be a issue with my web browser because I've had this happen before. Thanks
Also see my webpage: Vitiligo Cure

rohitash kumar said...

कहां लापता हो गई हैं आप....