Tuesday, December 18, 2012

आतंकवादियों का सम्मान करना कोई कांग्रेसियों से सीखे




दिग्विजय जी आतंकवादी ओसामा को 'जी' कहकर संबोधित करते हैं तो श्रीमान शिंदे जी आतंकवादी हाफ़िज़ सईद को 'श्री' कहकर सम्मान देते हैं !
--------------------------------------------
दोनों में से कौन ज्यादा महान है?

7 comments:

पूरण खंडेलवाल said...

इनकी महानता का क्या कहना !!

Maheshwari kaneri said...

बहुत कहा..

गिरिजा कुलश्रेष्ठ said...

टेढि जानि संका सब काहू...। इन महानुभावों की विवशता को जरा समझें ।

Rohitas ghorela said...

गद्दार कहीं के

Internet Marketing Company said...

पालीटीकस है भाई!!

Bikramjit said...

maaan to hamare NETA log hain..

KOI SHAK


Bikram's

Bidyut Kumar said...

Ye cangress vale jarurat padne par kutte ko bhi ji,shri,mahamanya,mahamahim ya manyavar ka sambodhan karenge aur apne maa baap ko kutta/kutti kahne me garv mahsus karenge,kyunki inka hriday bahut vishal hai aur ye log bade udarvadi hai....