Sunday, July 22, 2012

बेशर्मी की इंतहा देखिये...


धर्म का ह्रास होगा तो राष्ट्र प्रगति कैसे कर सकता है। हिंदुस्तान के हिन्दू ही अपने देश को शर्मसार कर रहे हैं। सेक्युलर बनकर अपने ही देश के साथ घात कर रहे हैं। कुछ दिनों में ये ड्रामेबाज सेक्युलर, मुल्लों और इसाईयों के साथ बैठकर हलाल का ऊँट और सुवर खायेंगे। और गो-ह्त्या कर धर्म का नाश करेंगे। इन्ही सेक्युलरों के कारण हमारे देश पर इस विदेशी पिज्जा बेचने वाली वेट्रेस का राज है। भारत-भूमि पतन की ओर तेज़ी से अग्रसर है। नकली हिन्दुओं का खून पानी हुआ जा रहा है। अब उनमें उबाल; भी नहीं आता। अपना धर्म बदल कर इस्लाम और इसाईयत को अपना रहे हैं। इन्ही मुगलों ने हमारे हिन्दू मंदिरों को तोड़ा और नष्ट किया। केरल में आज साठ प्रतिशत इसाई हो गए हैं। जगह-जगह , सार्वजनिक स्थानों पर कब्जा करके अपना बड़ा-बड़ा इसाई क्रूस खड़ा कर रहे हैं। देश का सबसे खूबसूरत राज्य केरल भी इन इसाईयों के कब्जे में है। समय आ गया गया है चेत जाने का , अन्यथा बहुत देर हो जायेगी। ये सेक्युलर-पिस्सू हमारे देश को खून पी जायेंगे।

देखिये इस तस्वीर में 'लक्ष्मण जॉन्सन' को ......हिन्दू धर्म का अपमान करते इस मूर्ख को पहचानिए और जानिये इनकी असलियत..... कौन है ये ? ...सेकुलर पिस्सू ?...हिंजड़ा?...अधर्मी ? ...कमीना ?.... या फिर कोई जेहादी ?

Zeal

40 comments:

Suresh kumar said...

Ye haramjada hai koin.
Kisi ko bhi hamare dharm se khelne ki ejajat nahi hai.par kuch kamine log fir bhi jurat karte hain .sharm aani chahiye hame ...agar ye mujhe kahi mil jaye to ...

Bharat Bhushan said...

वाक़ई यह व्यक्ति मूर्ख है.

दीर्घतमा said...

यह हिन्दू समाज की कमजोरी है यदि हिन्दू संगठित होगा तो भारत अपने-आप शसक्त होगा ये सेकुलरिस्टो को माध्यम बना ईसाई अपना कम कर रहे है.

Sawai Singh Rajpurohit said...

ऐसे पापी को तो जरुर सजा मिलनी चाहिएऔर इसे भगवान् कभी नहीं छोड़ेगे...

Dr. Ayaz Ahmad said...

क्या इसे रोकने वाला मंदिर में कोई भी पुजारी या भक्त नहीं था ?

expression said...

वाकई इन्तहा है बेशर्मी की......किसी भी धर्म का अपनाम करने वालों को सजा मिलनी चाहिए.

Sawai Singh Rajpurohit said...

भगवान शंकर का अपमान करने वाले इस नालायक की जानकारी इस लिंक पर देखे ...

http://rajpurohitagra.blogspot.in/2012/07/blog-post_22.html

Sawai Singh Rajpurohit said...

इस फोटो पर न्यूज़ टी वी वालो ने क्या कहा देखे इस लिंक पर

http://www.facebook.com/photo.php?fbid=339112399508311&set=a.166802770072609.43500.100002286609574&type=1&theater

veerubhai said...

संविधान में जिसने भारतीय प्रजातांत्रिक गणराज्य के साथ धर्म निरपेक्ष शब्द जोड़ा यह सारी शरारत वहीँ से आ रही है .आज सेकुलर का मतलब हिंदुत्व जीवन शैली का अपमान करने वाली विचार धारा के लोग हो गया है यह वही लोग हैं जो वाघा चौकी पे जाके मोम बत्तियां जलातें हैं इनके लीडर कुलदीप नैयार क्लास के लोग हैं .कृपया यहाँ भी पधारें -


ram ram bhai
सोमवार, 23 जुलाई 2012
अमरीका नहीं देखा उसने जिसने लास वेगास नहीं देखा
http://veerubhai1947.blogspot.de/
तथा यहाँ भी -
कैसे बचा जाए मधुमेह में नर्व डेमेज से
http://kabirakhadabazarmein.blogspot.com/

Chand K Sharma said...

घटना स्थल पर कोई भी प्रमाण ना मिलने पर पुलिस ऐजेन्सियाँ अपराधी का स्कैच बना कर उसे ढूंड लेती हैं। यहाँ अपराधी का फोटो मौजूद है। दूषित किये गये शिव लिंग का स्थान भी पहचाना जा सकता है तो फिर अपराधी को पकडने में क्या अडचन है।

अगर यही काम किसी हिन्दू ने मुस्लिम के खिलाफ किया होता तो अब तक सारा सरकारी तन्त्र अपराधी को खोजने और पकडने में जुट गया होना था।

क्या स्थानीय विधायकों, सांसदों, न्यायाधीशों और नेताओं, वकीलों को अभी तक दिखाई नहीं दिया कि किस तरह से हिन्दूओं की भावनाओं को ठेस पहुँचाई गयी है।

विश्व हिन्दू परिषद कहाँ सो रही है। क्या मोहन भागवत और बाल ठाकरे को भी सांप सूंघ गया है।

चाँद शर्मा

मनोज कुमार said...

उफ़्फ़!
यह फोटो हटाकर एक लिंक दे दीजिए।
अपने ब्लॉग को इस गंदगी से दूर रखिए।

यादें....ashok saluja . said...

क्या येही लोकतंत्र है ...जरा मुल्क के रहबरों से पूछो ....!!!

surenderpal vaidya said...

भगवान शिव का अपमान करने वाले ऐसे व्यक्ति की आँखे निकाल कर टांगेँ काट देनी चाहिए ।

mahendra verma said...

इस बशर्म के पैर काट देना चाहिए।

Maheshwari kaneri said...

किसी भी धर्म का अपमान करने वालो को नहीं छोड़ना चाहिए..बहुत ही दुख की बात है..

mahendra verma said...

Mumbai: This lad from Tirumala, Tirupati, seems to be out of senses. Yes, Laxman Johnson, who claims to be working for Indian Railways, has crossed the periphery of being agnostic for the religion of others. His latest shameful act is the post on the social networking website Facebook. In the post Laxman is seen standing over the Hindus' religious deity ‘The prestigious Shiva Linga’.

In the picture that's been clicked inside a temple, Johnson is standing proudly on the religious deity keeping both his legs over it. His one leg is on the Shiv Linga's platform, whereas, the other over the head. Not just this, to surpass the sarcasm, he is also wearing shoes to add to the disrespect of the Shiva and play with the sentiments of Hindu followers.

On the other hand, he claims to be the 'Son of Jesus' - the beloved Christians' deity. The post has brought fumes on the social network as people are yelling their hearts out to get this man trapped soon.

Some of the posts by Facebook users also claim that he should be getting the kind of punishment that no one should even dare to do it this way.

As per Laxman's Facebook account details, he studied from Evergreen High School and resides in Mumbai.


Sachin Kumar, who works for a private firm has posted, "His Work is as Black as he is but he doesn't know what he is doing. He doesn't know that Lord Shiva Loves every Human. He Loves him also otherwise how can he stand on his head?"
Another Facebook user, Irfan has written, "I think he doesn't know what he is doing. Of-course disrespect to any religion will never be tolerated."

People have got fumed enough that they have even claimed to kill the man.

One Abhilash Ks says, "He should be shot at site."

On the other hand, a few of them have also claimed that the man should be spared to destiny.

Sureshrajan Srinivasan says, "In the name of shiva .... leave him ... he will get back soon .... he doesnt know wat he has done ..... the biggest mistake of his life."

The deed has come on the social forum and still the police is not taking any action on this fellow. He needs to be dealt hard, claims one Meenakshi Rangnathan on the post.

The question is not just about standing on the prestigious Shiva Linga rather the question is all about respecting each others' religion. India indeed is one of the biggest lands where people of all casts and religion reside. This man seems to have been overdone by his rigidity and mindlessness.

Important: "The purpose of this news is just to bring the misleading act in front of the society and the responsible authorities. Hence, Pardaphash doesn't wish to hurt anyone’s sentiments or feelings."

mahendra verma said...

link-

http://www.pardaphash.com/news/picture-with-man-standing-on-the-shiv-linga-fumes-devout/694668.html

दिगम्बर नासवा said...

शर्म की बात है .. ऐसे लोगों के खिलाफ कार्यवाही जरूरी है ...

RAJEEV KULSHRESTHA said...

दिव्या जी ! आपके विचारों के अनुसार ही एक उद्देश्यपूर्ण और सार्थक लेख । लेकिन आपने पेज पर कापी लाक लगाया हुआ है । जिससे सवाई सिंह राजपूत द्वारा दिये लिंक आसानी से कापी कर नहीं देखे जा सकते । मैं आपको सुझाव दूँगा । आपके क्रांतिकारी विचार बहुत लोग पसन्द करते हैं । अतः वो कभी अंश रूप उसका प्रयोग भी करना चाहते होंगे । जैसे अभी मेरी इच्छा हुयी । और आप भी अपने विचारों को अधिकाधिक फ़ैलाना ही चाहेंगी । इसलिये इस पेज लाक विजिट का मेरी नजर में कोई महत्व नहीं । अगर उचित समझें । तो इसे हटा दें ।

Rajesh Kumari said...

आपकी इस सुन्दर प्रविष्टि की चर्चा कल २४/७/१२ मंगल वार को चर्चा मंच पर चर्चाकारा राजेश कुमारी द्वारा की जायेगी आप सादर आमंत्रित हैं

एस.एम.मासूम said...

इस बेशर्मी का भी राजनीतिकरण केर डाला दिव्या जी ने :)

प्रतुल वशिष्ठ said...

एक घटना बताता हूँ...

'बालक मूलशंकर ने शिवरात्रि का उपवास रखा था. पिता करसन जी और सभी शिवभक्तों ने 'शिवलिंग' पूजा की थी. बालक मूलशंकर देर रात्रि तक 'शिव' पर चिंतन करता रहा और निहारता रहा 'शिवलिंग' को.... बहुत सारे चूहे आ-आकर पिंडी पर मल-मूत्र करते रहे.... लेकिन शिव पर कोई असर न हुआ... बालक के मन में प्रश्न आया 'जो शिव अपनी खुद की रक्षा नहीं कर सकता, वह हमारी रक्षा कैसे करेगा?' ... वह सच्चे शिव की तलाश में निकल पड़ा. .... बाद में वही बालक 'महर्षि दयानंद' बना.

बचपन में सुनी इस घटना से मेरे मन में भी एक प्रश्न आया - कल्याणकारी 'शिव' के लिये तो हर जीव उसकी ही संतान है... संतान चाहे अपनी अबोधता में उसपर मल-मूत्र ही क्यों न कर दे, वह क्योंकर अपना बचाव करने लगा.



जहाँ तक चित्र में दिखाये गये युवक का प्रश्न है... वह दुर्बुद्धि है, मूषक मति है, लेकिन

इससे यह भी समझना होगा कि 'सच्चा शिव' भेदभाव नहीं करता...उसके लिये सब समान हैं.

परन्तु जब हम 'एक राष्ट्र' की परिकल्पना करते हैं.... तब ऐसे 'चरित्र' गंभीरता से विचार योग्य हो जाते हैं.

हमारे सम्मान और आस्था के प्रतीकों की समझ जिन्हें नहीं है... वे दंड के पात्र हैं. इनके लिये एक ही दंड होना चाहिए 'देश-निकाला'.

Sudheer Maurya 'Sudheer' said...

हद हो गई अब तो..साले की टंगे तोड़ देनी चाहिए...

Bikramjit said...

Sad this happened,

although i must says this happens a lot in our country, hindus are doing this to muslims, muslims are doing this to hindus, sikhs are doing it to others , others are doing it to sikhs..

thats how our nation is , We all say we are secular and we are diverse but ARE WE , is the question.. I dont think we are capable of being lenient to other religions, So much has happened in our nation in the name of religion. I am surprised we say we are secular.

genocides have happened in our nation in the name of religion still we say we are secular

so many are killed in the name of religion , more have died in religion cause, then actually other problems .. yet we say we are secular...

I dont think we have the right to call ourself secular..

and this person indeed is wrong, he should respect other religion, whatever it is. I am sure he wont like if someone degraded what ever religion he follows ..

Bikram's

Anonymous said...

जिस कमीने ने शिवलिंग पर पैर रखकर अपना फोटो खिंचवाया था आज उसके घर को शिवसैनिकों द्वारा आग के हवाले कर दिया गया और उसके रिश्तेदार भी मुंबई छोडकर भाग गये...हिंदुत्व की इस शक्ति को मेरा नमन !! तो अब सभी मिलकर बोलो हर हर महादेव

ZEAL said...

पापियों के पाप का घड़ा जब भर जाता है तो वह ऐसा ही मूर्खतापूर्ण काम करता है। --"विनाशकाले विपरीत बुद्धि" । हिन्दुओं की आस्था के साथ खिलवाड़ करने और महादेव का अपमान करने वाला का संहार सुनिश्चित है।

Dinesh Sharma said...

Vinashkale viprit budhhi.

सुरेन्द्र सिंह " झंझट " said...

BAHUT HI DUKHAD AUR AGHAT PAHUCHANEWALA CHITRA....
ISKA PAIR TODKAR DANDIT KARNA HI UCHIT DAND HAI.

सुरेन्द्र सिंह " झंझट " said...

BAHUT HI DUKHAD AUR AGHAT PAHUCHANEWALA CHITRA....
ISKA PAIR TODKAR DANDIT KARNA HI UCHIT DAND HAI.

Pallavi saxena said...

मूर्ख जैसा शब्द तो इस व्यक्ति के लिए बहुत ही छोटा है। बल्कि मूर्ख ही क्या इसे तो जो भी कहा जाये वो इसके लिए बहुत कम होगा और उस चीज़ का अपमान होगा यहाँ तक की दी हुई गाली भी इसके आगे अपमानित हो जाएगी....इतना गिरा हुआ है।

veerubhai said...

डॉ साहब इस देश में ये सेकुलर कुछ नहीं होने देते हिन्दू धर्म की सर्व ग्राहिता ,सहन शीलता का ढोल पीटते रहतें हैं .

veerubhai said...

डॉ साहब इस देश में ये सेकुलर कुछ नहीं होने देते हिन्दू धर्म की सर्वग्राहिता सहन शीलता का ढोल पीटते रहतें हैं ये सेकुलर प्राणि इनका संरक्षण होना चाहिए इनकी जीवन इकाइयां संभाल के रखनी चाहिए ताकी सनद रहे हिन्दुस्तान में एक ऐसी भी कौम थी जो सेकुलर कहलाती है सेकुलर खाती थी ओढ़ती बिछाती थी .

veerubhai said...

डॉ साहब इस देश में ये सेकुलर कुछ नहीं होने देते हिन्दू धर्म की सर्वग्राहिता सहन शीलता का ढोल पीटते रहतें हैं ये सेकुलर प्राणि इनका संरक्षण होना चाहिए इनकी जीवन इकाइयां संभाल के रखनी चाहिए ताकी सनद रहे हिन्दुस्तान में एक ऐसी भी कौम थी जो सेकुलर कहलाती है सेकुलर खाती थी .सेकुलर ओढ़ती थी बिछाती थी .

Kailash Sharma said...

बहुत शर्मनाक...

Rakesh Kumar said...

देव मुनि प्रवार्जित लिंगम
कामदह करुनाकर लिंगम
रावण दर्प विनाशन लिंगम
तत् प्रणमामि सदा शिव लिंगम

कराल महा काल कालं करालं

गुणागार संसार सारं नतोऽहं

Ramakant Singh said...

बहुत शर्मनाक.

Bikramjit said...

I read some of the comments on this post , I must say no wonder our nation can NEVER BE SECULAR.. there will always be HINDU-SIKH-MULSIM

we can never be one .. Can I please ask all the Good people here.. and an open question to everyone .. Why are the people who killed sikhs in 1984 Innocent sikhs, Not brought to justice...

Can someone tell me how is it ok for one religion to take revenge and not ok for the other side..

Everyone talks of we are one, we are secular ARE WE .. all the people who said this guy shud be killed or his legs broken , or his house was burnt down, his family had to leave mumbai .. WELL what do you people say about the massacre of innocent sikhs .. By a large majority of Hindu's ..

Please I would like to ask this question , Of it is ok to kill innocent tooo

Thank you.

ZEAL said...

Bikram...Billion dollar question...

Vaanbhatt said...

जो देश धर्म से ही निरपेक्ष होगा...वहां धर्म का ह्रास तो होगा ही...सेक्युलर की हिंदी सर्व धर्म सम भाव होना चाहिए...ये विचार कहीं पढ़े थे सोचा साझा कर लूँ...

lalit said...

saale haraam jaade ka pair aur sab kuch kaat daalna chahiye