Thursday, July 25, 2013

शांति की भीख मांगने वाले हिन्दुओं

 जिस तरह से मोदी के लिए अमेरिका को हमारे सांसदों ने चिट्ठी लिखी है उससे दो तिन बाते साफ़ हो जाती है। पहली तो ये की अगर मोदी आदमखोर हैं यमदूत हैं तो हमारे नेता इस यमदूत के साथ तो अपने देश में रह सकते हैं पर यह यमदूत अमेरिका जाए इन्हें स्वीकार नहीं। मतलब अमेरिका की जनता की सुरक्षा के लिए ये ज्यादा चिंतित है भारतीयों के लिए नहीं। दूसरी बात हमारे नेता लिखना जानते है. ख़ुशी होती अगर ये चिट्ठी इन मुद्दों पर राष्ट्रपति/प्रधानमंत्री को लिखते

- उत्तराखंड में लोगो को क्यों नहीं बचाया गया ?
- रूपया इतना गिरता क्यों जा रहा है ?
- भ्रष्टाचार क्यों इतना बढ़ गया है ?
- महंगाई क्यों बढती जा रही है
- चीन हमारे सीमा के अन्दर क्यों घुस गया ?
- दिल्ली बलात्कार के आरोपी को सजा जल्दी क्यों नहीं दी जा रही ?
- कश्मीरी पंडित अपने ही देश में अनाथ क्यों जी रहे हैं ?
-कश्मीर का आधा भाग पाकिस्तान से वापस क्यों नहीं लिया जा रहा ?
- हमारे सैनिको का सर काट के ले जाने वालो को जवाब क्यों नहीं दिया गया ?
--------------------------------------------------------------------------------------------------------
हमेशा शांति की भीख मांगने वाले हिन्दुओं .....आजतक के इतिहास का सबसे बड़ा संकट हिन्दुओं पर आने वाला है , ईसाईयों के ८० देश और मुल्लो के ५६ देश है , और हिन्दुओं का एकमात्र देश भारत ही अब हिन्दुओं के लिए सुरक्षित नहीं रहा. भारत को एक फ़ोकट की धर्मशाला बना दिया गया है जहाँ इसके मेजबान हिन्दू ही बहुत जल्दी मुल्लो की सेना तैयार करने वाली संस्था PFI द्वारा शुरू होने वाले गृहयुद्ध में कश्मीर की तरह पुरे भारत में हिन्दुओं के हाथ पैर काट दिए जायेंगे, आंखे निकाल ली जाएँगी , बहन बेटियों के साथ सामूहिक बलात्कार करके उनकी छातियाँ काट के वहां अल्लाह के नाम की गरम मोहरे दाग के अपनी निशानी छोड़ दी जाएगी , और कश्मीर की ही तरह उनकी सुरक्षा के लिए कही पे भी सरकार नाम की दलाल संस्था कोई भी सेना नहीं भेजेगी और अगर भेजेगी भी तो मुलायम सिंह की तरह अयोध्या के रामभक्तों की तरह समस्त हिन्दुओं पे गोली चलने के लिए.....
नपुंसक हिन्दू खुद तो ख़तम हो रहा है और समस्त विश्व के कल्याण की बकवास करता फिरता है जबकि समूचा विश्व ईसाई और मुल्ला उसको पूरी तरह निगल लेने की पूरी तैयारी कर चूका है...आज तक हिन्दू जितनी अधिक उदारता और सज्जनता दिखलाता रहा है , उसको उतना ही कायर और मुर्ख मान कर उसपे अन्याय, और हर तरह का धार्मिक , सामाजिक और आर्थिक विश्वासघात किया जाता रहा है ...और हिन्दू है की आंख बंद कर के बस कहावतों में जिंदा रहकर बस भगवान के शांति स्वरूपं की पूजा करते करते सच में नपुंसक बन chuka है !

10 comments:

पी.सी.गोदियाल "परचेत" said...

एक सीधा सा जबाब, घटिया मानसिकता के भ्रष्ट कायर है, इसलिए मोदी से डरे हुए है! देश एक लोकतंत्र के नाम पर कलंक हैं क्योंकि इन्होने देश की महिमा को इससे चोट पहुंचाई है! अब आगे ये घटिया गिरगिट किस मुह से कहेंगे की हमें किसी तीसरे की मध्यस्थता की जरुरत नहीं है ! इन्होने खुद अपने पैर पर कुल्हाड़ी मारी है! और एक बार फिर यह भी साबित किया है कि इनके लिए देश राजनीति और अपने धर्म से बढ़कर नहीं है !

पूरण खण्डेलवाल said...

चिंतनीय .............

Maheshwari kaneri said...

दिव्या जी आप जो भी लिखती है बेझिझक सटीक और सार्थक..मन में बहुत सी बातें आती हैं पर लिखने के लिए जि़गर होना चाहिए..जो आप में हैं..आप की लेखनी को नमन...

आशा जोगळेकर said...

आपके सारे मुद्दे सही हैं जिन पर सरकार को काम करना चाहिये पर कुर्सी की पकड छोडे तब तो काम करे । अब भी जाग जाये हिंदु और वोट करें मोदी को । आप बहुत हिम्मत का काम कर रही हैं ।

रविकर said...

आपकी उत्कृष्ट प्रस्तुति शुक्रवारीय चर्चा मंच पर ।।

Tarkeshwar Giri said...


बहुत ही सुन्दर लिखा है आपने दिव्या जी, अपने स्कूल के प्रिंसिपल को तो ये ससुरे चिठ्ठी लिख नहीं पाए , और लिखा भी तो अमेरिका के राष्ट्रपति को, उस राष्ट्रपति को जिसके कार्यकाल में अमेरिका के कई राज्य दिवालिया हो गये.

मुलायम सिंह जैसे लोग अगर राजीनीति में बने रहे तो हिंदुस्तान भी एक दिन ख़त्म हो जायेगा, मुस्लिम वोट के नाम पे हमारे देश की राजनीती इस कदर गिर जाएगी …. ये भगवन

Madan Mohan Saxena said...

सुन्दर व् सार्थक प्रस्तुति
कभी यहाँ भी पधारें

Anonymous said...

Hautelook discount code dec 2013 hautelook discount code Hautelook discount code HauteLook for iPhone,
iPod touch, and iPad on the iTunes App Store http://hautelookqueen.
webs.com/?

Sudhanshu Awasthi said...

इस गन्दी सोंच से इन नेताओं की गन्दी परवरिश का ही बोध होता है ,मै तो कहता हूँ की मुलायम सिंह,नीतीश एवं अन्य नेतागण जो मुस्लिम वोट बैंक के लिए आधे मुस्लिम हो गए हैं इन्हें पूरी तरह से मुस्लिम धर्म अपना लेना चाहिए ,कम से कम इनके अधूरे धर्म का विस्तार तो होगा .काश अगर कोई इन नेताओं का डी.एन .ए. टेस्ट करवा सके तो कसम से कहता हूँ की इनकी रगों में बहने वाला रक्त किसी खान ,पठान अथवा कुरैशी का ही निकलेगा क्योंकि इनकी नसों में अगर विशुद्ध हिन्दू रक्त होता तो देश की राजनीति का हर नेता नरेंद्र मोदी होता ,और दिव्या जी रही बात इन गर्दुल्लों की बढ़ती हुई संख्या या भौगोलिक अनुपात से तो अकबर,सिकंदर या हुमांयू जैसे गर्दुल्ले भारत की संस्कृति को नहीं बदल सके तो इनकी क्या औकात कि ये हिन्दुओं के सम्मान से छेड़ छाड़ कर सकें .बचपन में अपनी दादी माँ के मुंह से सुना करता था कि जब अँधेरा ज्यादा घना हो तो समझना चाहिए की सुबह का सूरज ज्यादा चमकदार होगा .इसलिए नरेंद्र मोदी जैसे सूरज के लिए ये अँधेरे नेता गण ठीक उस बच्चे की तरह से हैं जो सूरज की जलन को मुंह से फूँक कर बुझाने का प्रयास करते हैं ,बस जरा सूरज को निकलने की देर है फिर ये गर्दुल्ले एवं इनकी कौम के नेता जैसे मुलायम ,नीतीश ,दिग्विजय आदि ठीक उसी तरह सूखेंगे जिस तरह कोई माँ अपने बच्चों के पेशाब से गीले बिस्तर धूप में सुखाती है ..जय हिन्द ,जय भारत ,जय हिन्दू ...........

Sudhanshu Awasthi said...

इस गन्दी सोंच से इन नेताओं की गन्दी परवरिश का ही बोध होता है ,मै तो कहता हूँ की मुलायम सिंह,नीतीश एवं अन्य नेतागण जो मुस्लिम वोट बैंक के लिए आधे मुस्लिम हो गए हैं इन्हें पूरी तरह से मुस्लिम धर्म अपना लेना चाहिए ,कम से कम इनके अधूरे धर्म का विस्तार तो होगा .काश अगर कोई इन नेताओं का डी.एन .ए. टेस्ट करवा सके तो कसम से कहता हूँ की इनकी रगों में बहने वाला रक्त किसी खान ,पठान अथवा कुरैशी का ही निकलेगा क्योंकि इनकी नसों में अगर विशुद्ध हिन्दू रक्त होता तो देश की राजनीति का हर नेता नरेंद्र मोदी होता ,और दिव्या जी रही बात इन गर्दुल्लों की बढ़ती हुई संख्या या भौगोलिक अनुपात से तो अकबर,सिकंदर या हुमांयू जैसे गर्दुल्ले भारत की संस्कृति को नहीं बदल सके तो इनकी क्या औकात कि ये हिन्दुओं के सम्मान से छेड़ छाड़ कर सकें .बचपन में अपनी दादी माँ के मुंह से सुना करता था कि जब अँधेरा ज्यादा घना हो तो समझना चाहिए की सुबह का सूरज ज्यादा चमकदार होगा .इसलिए नरेंद्र मोदी जैसे सूरज के लिए ये अँधेरे नेता गण ठीक उस बच्चे की तरह से हैं जो सूरज की जलन को मुंह से फूँक कर बुझाने का प्रयास करते हैं ,बस जरा सूरज को निकलने की देर है फिर ये गर्दुल्ले एवं इनकी कौम के नेता जैसे मुलायम ,नीतीश ,दिग्विजय आदि ठीक उसी तरह सूखेंगे जिस तरह कोई माँ अपने बच्चों के पेशाब से गीले बिस्तर धूप में सुखाती है ..जय हिन्द ,जय भारत ,जय हिन्दू ...........