Monday, December 27, 2010

एक मिसाल - Alfred Bernhard Nobel - A man behind the prizes !

अक्टूबर १८३३ को स्वीडन में जन्मे Alfred Nobel ने इतिहास कायम कर दियाNobel पुरस्कार के जन्मदाता का १८९६ में ६३ वर्ष की आयु में देहावसान हो गया

इन्होने अपनी मृत्यु से पूर्व एक नाटक लिखा था - "nimesis" , जो इनकी मृत्यु के दौरान प्रकाशित हुआ लेकिन मृत्यु के तुरंत बाद अति विवाविदित होने के कारण इसकी सभी प्रतियां नष्ट कर दी गयींकारण था उस नाटक में हिंसा, प्रतिशोध , सेक्स , वासना तथा धार्मिक कट्टरता का उल्लेख

रसायन शास्त्र [chemistry ] में विशेष रूचि रखने वाले Alfred Nobel ने विस्फोटकों [ explosives] पर गहन शोध किया तथा nitroglycerine जैसे विस्फोटकों को कैसे सुरक्षित तरीके से उत्पादन करना है तथा इस्तेमाल करना है , इस पर काफी विस्तार से कार्य किया Alfred Nobel के पास तकरीबन ३५५ रसायनों का पेटेंट था जिसमें से प्रमुख हैं -
  • Dynamite
  • Ballistite
  • Gelignite
इन विस्फोटकों का इस्तेमाल mining में, शिलाखंडों को तोड़ने , तथा रॉकेट propellant [ ballistite ] की तरह होता है१८८८ में Dynamite के कारण हुए एक हादसे में इनके छोटे भाई समेत अनेक लोगों की मृत्यु हो गयी , जिसके कारण अल्फ्रेड की बहुत निंदा और भर्त्सना हुईइस प्रकरण से दुखी होकर इन्होने अपनी शोध और गहन कर दी तथा सुरक्षित तरीकों को ढूंढा Dynamite के अविष्कारक अल्फ्रेड नोबेल ने २७ नवम्बर १८९५ में अपनी तीसरी तथा अंतिम वसीयत में अपनी सारी संपत्ति दान कर दी तथा नोबेल पुरस्कार वितरण की शुरुवात की

नोबेल
पुरस्कार निम्न पाच क्षेत्रों में दिए जाते हैं

- भौतिकी [physics]
-रसायन शास्त्र [ Chemistry]
- चिकित्सा [ Medicine/Physiology]
-साहित्य [ Literature]
-शान्ति [Peace]

इस
पुरस्कार में , गोल्ड मेडल , डिप्लोमा तथा पुरस्कार-धनराशी मिलती है जो उस वर्ष Nobel's foundation की होने वाली आय पर निर्भर करती हैयह एक से दो अरब US डॉलर के आस-पास होती है Nobel prize को तीन व्यक्ति से ज्यादा के साथ नहीं साझा किया जा सकता

वर्ष
२०१० के नोबेल पुरस्कार विजेता --

-भौतिकी- Andre Geim और Konstantin Novoselov [ Two dimensional material graphene के लिए ]

-रसायन शास्त्र-Richard F. Heck, Ei-ichi Negishi, Akira सुजुकी ["for palladium-catalyzed cross couplings in organic synthesis"।]

-चिकित्सा-Robert G. yedavards [ ...for the development of in vitro fertilization".]

-साहित्य-Mario Vargas llosaa ["for his cartography of structures of power and his trenchant images of the individual's resistance, revolt, and defeat"।]

-शान्ति -Liu Xiaobo [ "for his long and non-violent struggle for fundamental human rights in China"। ]

काश हमारे देश से भी किसी प्रतिभाशाली व्यक्तित्व को नोबेल पुरस्कार मिलताया अमर्त्यसेन और रबीन्द्रनाथ टैगोर जैसी हस्तियाँ अब नहीं जन्म लेतीं ?

आभार

29 comments:

प्रवीण पाण्डेय said...

निश्चय ही एक विचारवान और संवेदनशील व्यक्तित्व।

: केवल राम : said...

जानकारी से परिपूर्ण आलेख .......शुक्रिया

ashish said...

अल्फ्रेड नोबल जैसे महान वैज्ञानिक को मेरा सलाम . नोबल पुरस्कार विजेताओ का देश होने\\ में खासकर विज्ञानं के क्षेत्र में . अपने देश में आधारभूत सुविधाए आड़े आती है .. उम्मीद है की आगे इस स्थिति में सुधार होगा.

डॉ. नूतन - नीति said...

आज भी प्रतिभाएं है .. किन्तु हर क्षेत्र में उपजी विरोधी राजनीति ने सच में काम करने वालों को पीछे धकेला है ... जो काम कर रहे योगदान दे रहे हैं वो परदे के पीछे है ..बाकि आगे हैं ... दिव्या जी कैसी है आप.. शुभकामनाएं ..

mridula pradhan said...

janm to lete hain par wahan tak jakar sabki nazron me aane ka rasta logon ko pata nahin hota hai.

sada said...

बहुत ही सुन्‍दर एवं ज्ञानवर्धक जानकारी ...आभार ।

G Vishwanath said...

उपयोगी जानकारी।
धन्यवाद।
कुछ ज्यादा ही व्यस्त हूँ इस समय।
लंबी टिप्प्णी के लिए समय नहीं है।
फ़िर मिलेंगे।
शुभकामनाएं
जी विश्वनाथ
I am sending you a voice message to see if it works
Please do not delete if you get an email from Vocaroo Robot.
It will contain a link to a voice message from me.
I am using you for testing if it works okay. Please switch on your speaker.
If it works, you will be able to hear my voice and I can then send voice email instead of writing the email.

Regards
GV

JAGDISH BALI said...

Nice, informative and inspiring. Good to get prize but not good ot write to get prize.

उपेन्द्र ' उपेन ' said...

सुन्‍दर एवं ज्ञानवर्धक जानकारी मिली-शुक्रिया

सुलभ § Sulabh said...

अपने देश में मुख्य कारण है -
शोध कार्यों के लिए जरुरी बजट का न बनना
शिक्षण संस्थानों में शोध का स्तर आकर्षक न होना
शोधार्थियों के चयन में गड़बड़ी
समर्पित शोधार्थियों को सही वातावरण व मानदेय न मिलना

यही कारण है ऐसे कार्यों के लिए विदेश जाने वालों की लाइन लगी रहती है.
कुछ प्रतिभाएं दम तोड़ देती हैं और कुछ प्रतिभा पलायन होता रहता है.

मैंने अपने विद्यार्थी जीवन में गणित(ज्यामिति) और भौतिकी में कुछ प्रयास किये थे. गणित के दो-चार सूत्र मेरी डायरी में लिखे पड़े हैं. सब जोश ठंडा हो चूका है.
आज कल कम्प्यूटर गिटिर पिटिर करके पेट पालने वाले में से हूँ. साहित्य में गहरी रुचि होने के चलते - ब्लाग पर अपनी रचनाएँ कभी कभार लिख लेता हूँ.
--
ऐसे पोस्ट नवयुवकों के लिए प्रेरनादायी होते हैं, लिखते रहें.

Kunwar Kusumesh said...

जानकारीपरक था पुरस्कार के सम्बन्ध में विचारणीय पोस्ट

Bhushan said...

Alfred Nobel के नाटक के बारे में पहले पता नहीं था. जानकारी देने के लिए आभार.

सुरेन्द्र सिंह " झंझट " said...

ati sundar!
ek gyanvardhak sarthak lekh..

Mukesh Kumar Sinha said...

ek upyogi lekh........waise dr. divya aapke blog pe barabar aise upyogi aalekh dekhne ko milte rahte hain...hai na...

संगीता स्वरुप ( गीत ) said...

अच्छी जानकारी ...

एस.एम.मासूम said...

ज्ञानवर्धक पोस्ट.. कुंवेर जी अभी भी दिव्या जी की पोस्ट गिनते हैं या बंद कर गिनती...थक जाएँगे .It a blogers joke nothing serious..

विरेन्द्र सिंह चौहान said...

Important information. Some of the information I didn't know before. Really very meaningful post.

mahendra verma said...

आपकी इस प्रस्तुति से नोबल पुरस्कार और उसके प्रणेता के संबंध में कुछ नई जानकारियां प्राप्त हुईं।...आभार ।

...........

हमारे देश में प्रतिभाओं की कमी नहीं है। शासन द्वारा उन्हें उचित प्रोत्साहन नहीं दिया जाता। इसीलिए प्रतिभाएं विदेशों की ओर पलायन कर जाती हैं जहां उन्हें और उनके कार्यों को पर्याप्त मान-सम्मान मिलता है।

गत वर्ष 2009 में रसायन का नोबल पुरस्कार एक भारतवंशी अमेरिकी नागरिक श्री वेंकटरमन रामकृष्णन को मिला है। अपने एक भाषण में उन्होंने कहा था कि भारत में ग्रेजुएशन करने के बाद आई.आई.टी. की प्रवेश परीक्षा में वे अनुत्तीर्ण हो गए थे जिसके कारण वे अमेरिका चले गए।

एक और तथ्य यह भी पढ़ने सुनने में आता है कि नोबल पुरस्कार के लिए चयन में निष्पक्षता नहीं रहती।

Dorothy said...

सुंदर ज्ञानवर्धक आलेख के लिए आभार. उनके द्वारा लिखे गए नाटक के बारे में इससे पहले जानेकारी नहीं थी. उनके महान व्यक्तित्व के इस छिपे हुए पहलु की जानकारी देने के लिए धन्यवाद. आभार.
सादर,
डोरोथी.

कुमार राधारमण said...

@इन विस्फोटकों का इस्तेमाल mining में, शिलाखंडों को तोड़ने , तथा रॉकेट propellant [ ballistite ] की तरह होता है। १९८८ में Dynamite के कारण हुए एक हादसे में इनके छोटे भाई समेत अनेक लोगों की मृत्यु हो गयी।
यहां 1988 संभवतः 1888 होना चाहिए। कृपया शुद्ध कर लें।

मनोज भारती said...

एक पहलू यह भी ...

पहले विनाशजनक विस्फोटों की खोज, फिर शांति के लिए पुरस्कार ...अजीब विरोधाभास है ।

DR. ANWER JAMAL said...

Nice post.

ethereal_infinia said...

Dearest ZEAL:

Generic information. Read.


Semper Fidelis
Arth Desai

shikha varshney said...

बहुत ही अच्छी और विस्तृत जानकारी दि आपने .जहाँ तक पुरस्कारों की बात है मुझे लगता है कि इन पर हमेशा से ही राजनीती हावी रही है.

Anonymous said...

I blog frequently and I seriously thank you for your information. Your article has really peaked my interest.

I will bookmark your blog and keep checking for new information about once per week.
I opted in for your Feed as well.

My webpage: kim kardashian hollywood hack Tool

Anonymous said...

ib iq yz


https://www.tracopen.com/p.php?id=413
https://www.tracopen.com/p.php?id=1218
https://www.tracopen.com/p.php?id=4274
https://www.tracopen.com/p.php?id=3039
https://www.tracopen.com/p.php?id=2403
https://www.tracopen.com/p.php?id=2063
https://www.tracopen.com/p.php?id=490
https://www.tracopen.com/p.php?id=1982
https://www.tracopen.com/p.php?id=2586
https://www.tracopen.com/p.php?id=119
https://www.tracopen.com/p.php?id=1753
https://www.tracopen.com/p.php?id=2881
https://www.tracopen.com/p.php?id=5174
https://www.tracopen.com/p.php?id=4811
https://www.tracopen.com/p.php?id=922

Anonymous said...

I bought them in February and have put at least 500 trail miles on them, plus at least another 7-900 miles of just daily walking (I walk about 5 miles a day).
http://www.scarpeprezzieofferte.eu/mbt-scarpe-lavoro-t-108.html

Anonymous said...

Altra is known for cushy zero drop running and trail shoes.
http://www.schoenenbijhielspoors.top/mbt-schoenen-clearance-store-w-77.html

Anonymous said...

The front / mid sole pad offer good traction and shock absorption.
http://www.scarpeoutletonline.eu/mbt-scarpe-online-store-e-109.html