Thursday, January 17, 2013

पाकिस्तान ने वादा किया है की वो तमीज से रहेगा

पाक ने बारूदी सुरंगें बिछा रखी हैं ! भारत ने जब सबूत सौपें तो उन्होंने लेने से इनकार कर दिया ! 16 दिनों में 20 बार नियंत्रण रेखा पर युद्ध-विराम का उल्लंघन किया! लेकिन जब खेलों से इनका बहिष्कार होने लगा तो इनकी अकल ठिकाने आ रही है! अब पाकिस्तान ने वादा किया है की वो तमीज से रहेगा!

फैशन-परेड की सरताज, हिना रब्बानी ने कहा की -- 'भारत युद्ध चाहता है और हम पर झूठा आरोप लगा रहा है"

Zeal

18 comments:

डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री मयंक (उच्चारण) said...

झूठों को सभी झूे ही नजदर आते हैं!

पी.सी.गोदियाल "परचेत" said...

निष्कर्ष और सीख यह है कि कड़ाई से पेश आओ तो ये परिणाम निकलते है !

दिवस said...

पाकिस्तान वादा खिलाफी में सबसे आगे है। परन्तु फिर भी मुझे पूरा विश्वास है कि प्रधानमंत्री उनके वचनों पर ज़रूर विश्वास करेंगे। सात दिन बाद बोले किन्तु फिर भी सिर्फ बोले, वो भी कोरे पुलपुले शब्द।
हिना रब्बानी का कथन अर्ध सत्य है। हाँ अब भारत युद्ध चाहता है, किन्तु असली आरोपों के साथ।

वैसे केजरीवाल ने कहा है कि भारत-पाक में युद्ध नहीं होना चाहिए। भारत को सख्त से सख्त कदम उठाने चाहिए।
अब समझ नहीं आता कि केजरीवाल की नज़र में सख्त कदम क्या होते हैं?

Rajendra Kumar said...

अक्ल तो ठिकाने आएगी ही नही तो दुसरे तरीके है अपने पास।

Rajendra Kumar said...

अक्ल तो ठिकाने आएगी ही नही तो दुसरे तरीके है अपने पास।

प्रतिभा सक्सेना said...

हाथी के दाँत खाने के और ,दिखाने के और - सामने आ गया न !

पूरण खण्डेलवाल said...

जिनका इतिहास वादों को तोड़ने का रहा हो उनका यकीन कैसे करे कि इस बार उनका वादा सच्चा होगा !!

madhu singh said...

vada khikafi jinki fitarat rahi ho,unhe vada nibhana kabhi bhi aa nahi sakta......

भारतीय नागरिक - Indian Citizen said...

वादा तेरा वादा...

रजनीश के झा (Rajneesh K Jha) said...

प्रभावशाली ,
जारी रहें।

शुभकामना !!!

आर्यावर्त (समृद्ध भारत की आवाज़)
आर्यावर्त में समाचार और आलेख प्रकाशन के लिए सीधे संपादक को editor.aaryaavart@gmail.com पर मेल करें।

Chand K Sharma said...

पाकिस्तान तो यह भी कह रहा है कि शहीद हेमराज का सिर पाकिस्तानियों ने नहीं काटा - तो क्या व सिर के बिना ही बारर्डर पर पैट्रोलिंग कर रहा था। पाकिस्तान के झूठ और हमारी सरकार को पाकिस्तान की बदतमीजीं सहने की कोई सीमा नहीं। सच तो यह है कि अब हमें पाकिस्तान से ज्यादा काँग्रेस सरकार की नीतियों से ही खतरा है।

Ramakant Singh said...

हमेशा की तरह शानदार .

ZEAL said...

कांग्रेस सरकार बहुत खफा है पाकिस्तान से! पाक-सुंदरी हिना रब्बानी से वार्ता के साथ किया इनकार ! कांग्रेस चाहती है पाकिस्तान अपनी गलती माने-- क्या ये संभव है ?
----------------------------------
मनमोहन जी, जब बोया पेड़ बबूल का तो आम कहाँ से होए ? आपने तो खूब चारा डाला है इस पूरी कौम को , तब क्या सोचा था ये पालतू हो जायेंगे ?

ZEAL said...

कांग्रेस ने सपोलों को दूध पिलाया है आज तक

महेन्द्र श्रीवास्तव said...

रास्ते पर आना ही था पाकिस्तान को..

सेना और सरकार से ज्यादा सख्त चेतावनी आपने दे दी, असर दिखेगा...

kavita verma said...

ab apni public ko lubhane ke liye kuchh to kahna hoga na...

संगीता स्वरुप ( गीत ) said...

पाकिस्तान की किसी बात पर भी यकीन करना नुकसानदेह है ॥

कुश्वंश said...

पकिस्तान को न रास्ते पर आना है न आएगा. उ-टर्न हमेश से खतरनाक होता है आर्मी चीफ को कार्यवाही के लिए आज्ञा मिलनी चहिये प्रधानमंत्री द्वारा और घर में घुश्कर शहेद्द हेमराज का सर ढूदना चाहिए. आखिर एक शेर का सर है किसी और का नहीं जो हमारी अस्मिता का भी है. हमें कायरता से बचना चाहिए .