Thursday, January 24, 2013

वे भयभीत हैं...

कांग्रेस पार्टी आतंकित है , आजकल वह कॉकरोच से भी डर जाती है इसीलिए भगवा जैसे पवित्र रंग से भी आतंकित हो रही है।

मेरे विचार से इस डरी हुयी जमात को और ज्यादा आतंकित करना चाहिए ! भाजपा को अपनी पार्टी का एक ड्रेस-कोड बनाना चाहिए और पार्टी सदस्यों को भगवा शॉल और सदरी का प्रयोग करना चाहिए ताकि इन देशद्रोहियों की ज़बान लड़खड़ाये कुछ बकने से पहले!

Zeal

6 comments:

पी.सी.गोदियाल "परचेत" said...

निज स्वार्थों के लिए यह पार्टी चाटुकारिता की हदे लाँघ रहीहै और कुछ नहीं !

Shiv Kumar said...

यह पार्टी अपनी राजनीति के लिए कुछ भी कर सकती है .....और हमारे देश की जनता उसके प्रलोभनों में आकर फिर भी उसे ही वोट देती है ......

डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री मयंक (उच्चारण) said...

वाह...!

Maheshwari kaneri said...

आगे आगे देखो क्या होता है...

प्रतिभा सक्सेना said...

विनाश काले विपरीत बुद्धि!

रविकर said...

ज्ञानपीठ लिक्खाड़ को, पुर्जे-पुर्जे ख़्वाब |
पुर्जा उड़ जाए अगर, हालत होय खराब |

हालत होय खराब, चढ़ा ले आस्तीन फिर |
आस्तीन के साँप, सफलता चढ़ती है सिर|

खान-दान का खूह, खुदा है, लगा डुबकियाँ |
तृप्त हो चुकी रूह, भंजा ले मियाँ सुबकियाँ ||